ताज़ा खबर
 

नोटबंदी से परेशान लोगों का ट्विटर पर फूटा गुस्सा, बोले – मोदी हटाओ देश बचाओ

नोटबंदी को लेकर देशभर के लोगों में गुस्सा है। नोटबंदी के 18 दिन बीत जाने के बाद भी बैंकों की भीड़ कम होने का नाम नहीं ले रही है।
शनिवार (26 नवंबर) को #मोदी_हटाओ_देश_बचाओ ट्रेंड कर रहा था।

नोटबंदी को लेकर देशभर के लोगों में गुस्सा है। नोटबंदी के 18 दिन बीत जाने के बाद भी बैंकों की भीड़ कम होने का नाम नहीं ले रही है। लोग सोशल मीडिया पर भी अपना गुस्सा निकाल रहे हैं। सोशल मीडिया पर शनिवार (26 नवंबर) को #मोदी_हटाओ_देश_बचाओ ट्रेंड कर रहा था। इसपर लोग तरह-तरह से मोदी सरकार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साध रहे थे। एक ने लिखा, ‘लाखों-करोड़ों का तो पता नहीं मोदी की नजर गरीबों के दस-बीस हजार पर …. वाह रे मोदी सरकार’, दूसरे ने लिखा, ‘मोदी ने अच्छी भली कमाती जनता को बैंकों के सामने भिखारियों की तरह खड़ा कर दिया है’, तीसरे ने लिखा, ‘जनता की मुसीबतों को नजरअंदाज करके सिर्फ अपनी जिद के लिए एक नोटबंदी के असफल प्रयोग को जबरन लोगों पर लादा जा रहा है’, चौथे ने लिखा, ‘मोदीजी से बड़ी मुसीबत इस देश के लिए कोई नहीं, नोटबंदी के नाम पर अपने मित्रों को फायदा पहुंचाया है मोदी ने’, एक अन्य ने लिखा, ‘लाइन में लग के जिस PM को चुना, आज उसी PM की वजह से भूखे प्यासे लाइन में लगे हैं’, अन्य ने लिखा, ‘जब चाय वाले को PM बनाओगे तो भुगतो, चाय को क्या मालूम इकोनॉमी क्या होती है किसी फैसले से कितने लोग प्रभावित होंगे, आम जनता परेशान है तो किसी भी BJP, RSS या बाबा का जुबान नहीं खुल रहा है सबको साँप सुंघ गया है’

मोदी सरकार द्वारा 8 नवंबर को नोटबंदी का एलान किया गया था। मोदी द्वारा किए गए एलान में कहा गया था कि 30 दिसंबर के बाद से 500 और 1000 रुपए के नोट अमान्य हो जाएंगे। लोगों से उनके नोटों को बैंकों में जमा करने के लिए कहा गया था। हालांकि, कुछ जगहों पर नोटों को चलाने की इजाजत मिली थी। जिसे 24 नवंबर यानी कल के बाद से बंद कर दिया। अब सिर्फ 500 रुपए के नोट ही चल सकते हैं। वह भी सिर्फ 15 दिसंबर तक। वहीं 1000 के नोटों को अब बैंक में ही जमा करवाना होगा।

बैंकों और एटीएम के बाहर लगी लाइन खत्म होने का नाम नहीं ले रही है। आम लोगों के अलावा विपक्षी दल भी सरकार को निशाने पर लेने का मौका नहीं छोड़ रहे। संसद में शीतकालीन सत्र की कार्यवाही भी इस वजह से नहीं हो पा रही। आठ दिन से संसद में हंगामे के अलावा कोई काम नहीं हुआ है। विपक्षी दल लगातार पीएम मोदी को संसद में आकर बहस करने की चुनौती दे रहे हैं।

देखिए #मोदी_हटाओ_देश_बचाओ पर कैसे ट्वीट आ रहे हैं –