ताज़ा खबर
 

दलित प्रेमी जोड़े को न्यूड कर पूरे गांव में घुमाया, वीडियो गुजरात का बता कर किया जा रहा वायरल

पहले लड़की को लड़के के कंधे पर बैठने पर मजबूर किया जाता है, फिर लड़के को लड़की के कंधे पर बैठाया जाता है।
तस्वीर वायरल हो रहे वीडिया का स्क्रीनशॉट है।

सोशल मीडिया पर एक वीडियो इन दिनों तेजी से वायरल हो रहा है। इस वीडियो में कुछ लोग एक युवक युवती को न्यूड करके उनके साथ बदसलूकी कर रहे हैं। पहले लड़की को लड़के के कंधे पर बैठने पर मजबूर किया जाता है, फिर लड़के को लड़की के कंधे पर बैठाया जाता है। कुछ लोग इन्हें मार रहे हैं तो कुछ लोग चिल्ला रहे हैं वहीं कुछ लोग इस अमानवीय कृत का वीडियो भी बना रहे हैं। इस वीडियो को सोशल मीडिया पर शेयर किया जा रहा है। इस वीडियो को सोशल मीडिया पर गुजरात का बताया जा रहा है। वीडियो को शेयर करते हुए लिखा जा रहा है कि गुजरात में दलितों को नंगा करके घुमाया गया। वीडियो शेयर करते हुए कुछ लोग ते ये बी लिख रहे हैं कि अगर ऐसे जुल्म पर दलित हथियार ना उठाएं तो क्या करें। कुछ लोग इसे हिंदुत्व का साइड इपेक्ट बता रहे हैं। गुजरात में इस साल के अंत में विधानसभा के चुनाव होने हैं। ऐसे में गुजरात का बता कर इस वीडियो को सेयर करनेवालों की कमी नहीं है। हालांकि इस वीडियो की हकीकत कुछ और ही है।

वायरल वीडियो का स्क्रीनशॉट।

 

ये वीडियो जिसे गुजरात में दलितों पर अत्याचार का बता कर वायरल किया जा रहा है वो थोड़ा पुराना है। ये वीडियो गुजरात का है भी नहीं। वीडियो राजस्थान के बांसवाड़ा का है। 19 अप्रैल 2017 को यहां के शंभूपुरा गांव में एक प्रेमी युगल को निर्वस्त्र कर के गांव में घुमाया गया था और उन्हें पीटा भी गया था। वीडियो वायरल होते हुए स्तानीय पुलिस अधिकारियों तक पहुंचा और फिर इस मामले में 18 लोगों की गिरफ्तारी भी हुई थी।

ये प्रेमी जोड़ा आदिवासी समाज से आते थे और गुजरात में दिहाड़ी मजदूरी का काम करते थे, जहां इन्हें एक दूसरे से प्यार हुआ और इन्होंने शादी करने का मन बना लिया। दोनों भाग गए। कुछ ही दिन बाद गांव वाले इन्हें ढूंढ कर वापस गांव ले आए। दोनों को पूरे गांव में निर्वस्त्र कर घुमाने का फरमान भी गंव वालों ने सुना दिया। कुछ लोगों ने इस पूरी घटना का वीडियो बनाया और सोशल मीडिया पर अपलोड कर दिया।

20 और 21 अप्रैल को इस घटना की कवरेज स्थानीय और राष्ट्रीय मीडिया ने की थीः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. Pushpendra Dwivedi
    Aug 2, 2017 at 2:33 am
    सरकार कोई भी रहे गरीबों के उत्थान पर ढकोसले बाज़ी होती है पेड़ को जब तक जड़ से खुराक नहीं मिलेगी वो मज़बूत नहीं होगा
    (0)(0)
    Reply
    1. Girish Parikh
      Aug 1, 2017 at 11:15 am
      I feel that Mr. George should at least see the online news of Jansatta. It is always provocative and biased toward a particular community/Govt. This I have seen umpteen number of Times and had written my comments. This Viral news of Dalit is intended to cause serious disruption. And published without verification based on the You Tube or some other social media. Baseless news and causing serious dent in re tion of Indian Express.
      (0)(0)
      Reply