BJP के संजीव बालियान बोले – किसान बिल वापसी पर विपक्ष का हाल खिसियानी बिल्ली जैसा हो गया है

अखिलेश यादव और जयंत चौधरी के गठबंधन को लेकर कहा कि उनकी पार्टी है वह किसी से भी गठबंधन करें। भाजपा मजबूत पार्टी है उसे किसी से गठबंधन करने की जरूरत नहीं है।

Uttar Pradesh, Yogi Adityanath
संजीव बालियान बोले – अब अगर पढ़ोगे तो सिर्फ 'क्लर्क' बनोगे लेकिन अगर खेलोगे तो 'अफसर' बनोगे (सोर्स – एक्सप्रेस फोटो गजेंद्र यादव)

केंद्रीय कृषि पशुधन राज्य मंत्री डॉ संजीव बालियान ने कृषि कानूनों की वापसी को लेकर कहा कि कृषि कानून वापस लेने से विपक्ष बहुत दुखी है। उत्तर प्रदेश और पंजाब में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर विपक्ष ने सोचा था कि किसान के कंधे पर बंदूक रखकर चलाई जाएगी लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उनके मंसूबे कामयाब नहीं होने दिया।

बालियान ने कहा, ” विपक्ष नहीं चाहता था की कृषि बिल वापस हो, उनका हाल खिसियानी बिल्ली खंबा नोचे जैसा हो गया है। उसे अब चुनाव लड़ने के लिए नया मुद्दा ढूंढना पड़ेगा।” इसके साथ ही उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव में बीजेपी अपने कामों को लेकर जनता के बीच जाएगी। विपक्ष के पास सब कहने के लिए कोई भी मुद्दा नहीं बचा है।

अपनी बात को आगे बढ़ाते हुए उन्होंने कहा कि कृषि कानून पूरी तरह से खत्म कर दिया गया है और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी एमएसपी पर कमेटी बनाने जा रहे हैं। बालियान ने कहा कि जब कृषि कानून वापस हो रहे हैं तो विपक्ष संसद में इसका समर्थन क्यों नहीं कर रहा है। एमएसपी को लेकर बालियान ने कहा कि जो कमेटी बनाई जा रही है उसमें देशभर के किसान शामिल होंगे।

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि केवल हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश में ही किसान नहीं है बल्कि तमिलनाडु केरल में भी किसान हैं। वहां के किसानों को भी कमेटी में रखकर एमएसपी पर निर्णय लिया जाएगा। सपा प्रमुख अखिलेश यादव और आरएलडी अध्यक्ष जयंत चौधरी के गठबंधन को लेकर कहा कि उनकी पार्टी है वह किसी से भी गठबंधन करें। भाजपा मजबूत पार्टी है उसे किसी से गठबंधन करने की जरूरत नहीं है। कमजोर लोग इकट्ठा होते हैं और मजबूत लोग अकेले चलते हैं।

सांसद खेल स्पर्धा समापन समारोह में बुलंदशहर पहुंचे संजीव बालियान ने खेल को लेकर कहा कि बुलंदशहर से पहले ही कबड्डी खिलाड़ी निकले हैं। इन कार्यक्रमों के जरिए गांव तक खेल के लिए भावना जगेगी। उन्होंने कहा कि अब अगर पढ़ोगे तो सिर्फ क्लर्क बनोगे लेकिन अगर खेलोगे तो अफसर बनोगे और नाम भी होगा। जानकारी के लिए बता दें कि निशान बिल वापसी के बाद भी किसान नेता आंदोलन जारी रखे हुए हैं। बीकेयू प्रवक्ता राकेश टिकैत का कहना है कि केंद्र सरकार से अभी कई मुद्दों पर बातचीत बाकी है।

पढें ट्रेंडिंग समाचार (Trending News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट