यूपीः 73 सौ करोड़ का मिनी बजट युवाओं को समर्पित, कविता पढ़ नेता प्रतिपक्ष से बोले योगी- आप नहीं समझ पाएंगे जज्बात

असेंबली में योगी ने कहा कि मिनी बजट युवाओं को समर्पित है। एक कविता पढ़ उन्होंने नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी की ओर इशारा करते हुए कहा वो युवा पीढ़ी के जज्बात को आप नहीं समझ पाएंगे।

असेंबली में बोलते यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ। (फोटोः ANI)

योगी सरकार ने 2021-22 के लिए 7301.52 करोड़ रुपये का अनुपूरक बजट असेंबली में पेश किया। ये ध्वनिमत से पारित हुआ। यूपी असेंबली में योगी ने कहा कि मिनी बजट युवाओं को समर्पित है। एक कविता पढ़ उन्होंने नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी की ओर इशारा करते हुए कहा वो युवा पीढ़ी के जज्बात को आप नहीं समझ पाएंगे।

योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि यह बजट हम युवाओं को समर्पित कर रहे हैं। एक जुलाई 2021 से राज्‍य में सरकारी कर्मचारियों को अब 28 फीसद महंगाई भत्‍ता दिया जाएगा जिसमें 16 लाख सरकारी कर्मचारी और 12 लाख पेंशनर्स लाभान्वित होंगे। योगी ने कहा कि अनुपूरक बजट का विपक्ष इसलिए विरोध कर रहा है क्योंकि यह युवाओं को समर्पित है और ये लोग युवा विरोधी हैं।

उन्होंने कहा कि समाजवादी जब सरकार में थे तो नौकरियों को गिरवी रख दिया था। निवेश बंद हो चुका था। दंगे होते थे, नौजवान फंसा दिए जाते थे। झूठे मुकदमे लाद दिए जाते थे। औसत तीसरे दिन उत्तर प्रदेश में दंगा होता था लेकिन आज दंगा मुक्त प्रदेश है।

उत्तर प्रदेश विधानसभा का मानसून सत्र तीन दिन चला। सत्र की शुरुआत 17 अगस्त को हुई थी और इसे 24 अगस्त तक चलना था। बृहस्पतिवार को विधानसभाध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित द्वारा इसे अनिश्चित काल के लिए स्थगित कर दिया गया। अनिश्चित काल के लिए स्थगित करने से पहले, सदन ने 2021-22 के लिए अनुपूरक बजट पारित किया।

वित्त मंत्री सुरेश कुमार खन्ना ने अनुपूरक बजट प्रस्तुत करते हुए कहा था कि यह 7301.52 करोड़ रुपये का बजट है जो मौजूदा वित्तीय वर्ष के लिए निर्धारित पांच लाख 50 हजार करोड़ रुपये के वार्षिक बजट का 1.33 फीसद है। बजट पारित करने के प्रस्ताव का विपक्षी दलों ने विरोध किया लेकिन सत्ता पक्ष के सदस्यों का बहुमत होने से यह पारित हो गया।

नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने कहा कि सरकार सिर्फ अपना झूठा प्रचार कर रही है। उन्‍होंने मुख्‍यमंत्री से सवाल पूछा कि कोरोना वायरस महामारी के दौरान कितने लोग ऑक्सीजन की कमी, कितने बिस्तर की कमी और कितने लोग वेंटिलेटर न मिलने से अपनी जान गंवा बैठे, बताइए। चौधरी ने कहा कि इस अनुपूरक बजट से जनता को कोई लाभ नहीं है और यह सिर्फ चुनावी है। चौधरी ने सरकार पर आरोपों की झड़ी लगा दी।

उधर, बहुजन समाज पार्टी के दल नेता शाह आलम ने कहा कि इस अनुपूरक बजट की कोई आवश्यकता नहीं है और सच यह है कि जमीन पर हर आदमी परेशान है। कांग्रेस की आराधना मिश्र ने कहा कि अनुपूरक बजट जनहित के लिए होता है न कि राजनीतिक हित के लिए। ओमप्रकाश राजभर ने भी अनुपूरक बजट को औचित्यहीन बताया जबकि अपना दल (एस) की लीना तिवारी ने अनुपूरक बजट का समर्थन किया।

पढें ट्रेंडिंग समाचार (Trending News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
मोदी की अमेरिका यात्रा के बारे में रामगोपाल की टिप्पणी पर भाजपा की कडी प्रतिक्रियाNarendra Modi Australia Investors
अपडेट