ताज़ा खबर
 

टीवी शो में बोले मौलाना- डीएसपी अयूब को तो मुसलमानों ने ही मारा, लेकिन यहां तो हिंदू मुसलमान को मार रहे हैं

बीजेपी प्रवक्ता शाहनवाज़ हुसैन ने इस पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि आप इस तरह से दो चार घटनाओं को लेकर देश में हिंदू-मुसलमानों के बीच नफरत की दीवार ना खड़ा करें।

इमाम काउंसिल ऑफ इंडिया के अध्यक्ष मौलाना मकसूद उल हसन काज़मी।

इमाम काउंसिल ऑफ इंडिया के अध्यक्ष मौलाना मकसूद उल हसन काज़मी ने कश्मीर में डीएसपी मोहम्मद अयूब पंडित की हत्या पर विवादास्पद बयान दिया है। काज़मी ने कहा कि घाटी में तो मुसलमान ही मुसलमान को मार रहा है ना, पूरे हिंदुस्तान की तरह दूसरे धर्म के इंसान की जान तो नहीं ले रहा। दरअसल सोमवार 3 जुलाई को AIMIM विधायक अकबरुद्दीन ओवैसी ने धार्मिक भावनाओं को भड़काते हुए कहा कि देश की संसद में मुस्लिमों के खिलाफ कानून बनते हैं। ओवैसी ने ये भी कहा कि हर मुसलमान सिर्फ एक मुस्लिम को ही वोट दे तो हम अपने धर्म के 50 सांसद बना सकते हैं। ओवैसी के इसी बयान को लेकर हिंदी न्यूज चैनल आज तक ने एक डिबेट शो रखा था, जिसमें मुद्दा ये रखा गया कि आखिर कब तक ओवैसी जैसे लोग समाज में धर्म के नाम पर जहर घोलते रहेंगे। इस मुद्दे पर बात करने के लिए बीजेपी की तरफ से शाहनवाज हुसैन मौजूद थे तो वहीं ओवैसी के बयान का बचाव करने के लिए इमाम काउंसिल ऑफ इंडिया के अध्यक्ष मौलाना मकसूद उल हसन काज़मी आए थे।

मौलाना मकसूद उल हसन काज़मी से जब शो की एंकर अंजना ओम कश्यप ने पूछा कि आप लोग गोरक्षा के नाम पर हो रही हत्याओं पर सवाल तो उठाते हैं लेकिन कश्मीर में जब डीएसपी अयूब पंडित को मार दिया जाता है तो चुप क्यों हो जातें हैं। इस पर मौलाना ने बड़ा ही बेतुका बयान देते हुए कहा कि वहां घाटी में तो मुसलमान ही मुसलमान को मार रहे हैं लेकिन यहां तो दूसरे धर्म वाले मुस्लिमों को मार रहे हैं। मौलाना के इस बयान पर पूरे डिबेट शो में अजीब सा माहौल बन गया। बीजेपी प्रवक्ता शाहनवाज़ हुसैन ने इस पर तीखी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि आप इस तरह से दो चार घटनाओं को लेकर देश में हिंदू-मुसलमानों के बीच नफरत की दीवार ना खड़ा करें।

 

मौलाना मकसूद को इस तरह की बेतुकी बातें करते देख शो की एंकर ने भी उन्हें थोड़ी देर चुप रहकर आराम करने की सलाह दी ताकि डिबेट शो को आगे बढ़ाया जा सके।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App