ताज़ा खबर
 

मौलाना के बि‍गड़े बोल, पूछा; मर्दों और औरतों के लि‍ए अलग वॉशरूम क्‍यों?

एक अंग्रेजी न्यूज चैनल पर इसी से जुड़ी डिबेट में मौलाना मकसूद अल हसन कासमी का बड़बोलापन देखने को मिला।

हज को लेकर आई नीति पर हो रही डिबेट में यह मौलाना बराबरी और भेदभाव में फर्क ही नहीं समझ पाए। (फाइल फोटो)

हज की नई नीतियों के तहत महिलाएं भी यात्रा पर अकेली जा सकेंगी। एक अंग्रेजी न्यूज चैनल पर इसी से जुड़ी डिबेट में मौलाना मकसूद अल हसन कासमी का बड़बोलापन देखने को मिला। बेतुका बयान देते हुए उन्होंने पूछा कि जब बराबरी की बात होती है, तो फिर पुरुषों और महिलाओं के वॉशरूम अलग-अलग क्यों होते हैं।

बुधवार को टाइम्स नाऊ पर लाइव डिबेट हो रही थी। एंकर के अलावा इसमें कुछ पैनलिस्ट भी थे, जिसमें मौलाना मकसूद अल हसन कासमी भी थे। चर्चा के बीच में उन्होंने कहा कि चुनाव आयोग भी पुरुषों और महिलाओं के लिए अलग-अलग पोलिंग बूथों का बंदोबस्त करता हैं। हमारे यहां पुरुषों और महिलाओं की क्रिकेट टीम भी अलग हैं। दोनों के लिए अलग-अलग वाशरूम तक अलग होते हैं।

एंकर ने इसी पर उन्हें दुरुस्त किया। कहा कि आप समझदार इंसान हैं। लेकिन जब इस तरह का बेतुका बयान देते हैं, तो मुझे भी नहीं समझ में आ रहा है कि क्या कहूं। आपने बराबरी और भेदभाव के बीच का बर्दा ही हटा दिया। आप फर्क ही नहीं कर पा रहे हैं। वह आगे इस पर उनकी चुटकी लेते हुए कहते हैं कि आप अपना तर्क सही कर लें। देखिए आगे क्या होता है इस डिबेट में।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App