ताज़ा खबर
 

वीडियो: बुलेट ट्रेन के दरवाजे में फंसी उंगली तो साथ-साथ भागा शख्स, देखकर लोगों की निकल गई चीख

रेलवे स्टाफ का कहना है कि वह शख्स गलत ट्रेन में चढ़ गया, तभी बाहर निकलने के दौरान उसकी उंगली मेट्रो के दरवाजों के बीच फंस गई। इतने में ट्रेन ने चल पड़ी और उसे ट्रेन के साथ भागना पड़ा।

ट्रेन में फंसी युवक की उंगली। (Photo Source: Youtube:People’s Daily China Videograb)

चीन के एक मेट्रो स्टेशन उस समय अफरा-तफरी मच गई जब एक शख्स का हाथ चलती बुलेट ट्रेन के दरवाजे में फंस गया। यह मामला सोमवार का बताया जा रहा है। इस मौके पर जो भी शख्स मेट्रो स्टेशन पर मौजूद रहा। इस दृश्य को देखकर हैरान रह गया। पीपुल्स डेली चाइना की रिपोर्ट के मुताबिक यह घटना ज्यांग्सू प्रांत में घटित हुई। इसका वीडियो भी सामने आया है। वीडियो में दिखाई दे रहा है कि उस शख्स की उंगली मेट्रो की दरवाजे के बीच फंसा गया। इसके कारण वह ट्रेन के साथ दौड़ने लगा। इसे देखकर वहां मौजूद लोगों में चीख-पुकार मच गई। इस बीच कुछ लोगों ने शोर मचाकर ड्राइवर को संकेत देने की भी कोशिश की ताकि मेट्रो को रोका जा सके। काफी मशक्कत के बाद वह शख्स अपना हाथ निकालने में कामयाब रहता है।

रेलवे स्टाफ का कहना है कि वह शख्स गलत ट्रेन में चढ़ गया, तभी बाहर निकलने के दौरान उसकी उंगली मेट्रो के दरवाजों के बीच फंस गई। इतने में ट्रेन ने चल पड़ी और उसे ट्रेन के साथ भागना पड़ा। इस घटना के सोशल मीडिया पर सामने आने के लोगों ने घटना की आलोचना की और कहा कि इस तरह के हादसों को रोकने के लिए तंत्र होना चाहिए। फेसबुक डा सू नाम के शख्स ने लिखा कि ट्रेन में एक अलर्ट सिस्टम होना चाहिए ताकि जब तक ट्रेन के दरवाजे पूरी तरह से बंद न हो जाए तब तक मेट्रो आगे न बढ़े। एक अन्य शख्स ने लिखा- वह शख्स खुशकिस्मत है कि गंभीर चोंटे आने से पहले वह अपनी उंगली निकालने में कामयाब रहा।

 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 वीडियो: एक हजार फीट की ऊंचाई से कूदा शख्स, पहली बार ड्रोन से लगाई गई छलांग
2 रेड के बाद फ‍िल्‍ममेकर अशोक पंड‍ित ने पी. च‍िदंबरम पर मारा ताना तो क‍िसी ने पूछा- अरुण जेटली के घर कब पड़ेगा छापा
3 सरबजीत की बहन ने लाइव शो में पाकिस्तानी रक्षा विशेषज्ञ की जमकर लगाई क्लास, कहा- आओ कभी भारत फिर हम बताते हैं..