ताज़ा खबर
 

“संघियों को देखते ही मेरा खून खौल उठता है”

मनदीप सिंह बाजवा, राष्ट्रीय सुरक्षा और रणनीतिक मामलों के विश्लेषक, सैन्य इतिहासकार, कॉलमिस्ट और कांग्रेस मेंबर हैं।

एक यूजर ने पूछा कि सर क्या दीपक कपूर को आगे आकर बताना नहीं चाहिए कि उस मीटिंग में क्या हुआ।

राष्ट्रीय सुरक्षा और रणनीतिक मामलों के विश्लेषक, सैन्य इतिहासकार, कॉलमिस्ट और कांग्रेस मेंबर मनदीप सिंह बाजवा ने संघियों पर निशाना साधते हुए एक ट्वीट किया है। बाजवा ने ट्वीट में लिखा है कि, “जब मैं संघियों को देखता हूं तब मेरा खून खोल उठता है, जिनके परिवार ने कभी इस देश के लिए लड़ाई नहीं की थी वे सोचते हैं कि जनरल दीपक कपूर भारत को अस्थिर करने के लिए पाकिस्तान के साथ मिलकर साजिश रच रहे हैं। मैं याद दिलाना चाहता हूं कि इसी जनरल ने 1971 की लड़ाई में अपनी मातृभूमि की रक्षा की थी।”

आपको बता दें कि कांग्रेस ने मणिशंकर अय्यर के घर पाकिस्तान के पूर्व विदेश मंत्री और उच्चायुक्त के साथ जिस मीटिंग की बात पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आरोपों को सिरे से नकार दिया था, अब उसी मीटिंग पर पूर्व सेना प्रमुख जनरल दीपक कपूर का बयान आया। रिटायर्ड जनरल कपूर ने खुद इस मीटिंग में मौजूद होने की बात कही। अब उनकी इस जानकारी के बाद कांग्रेस के लिए इस पूरे मसले पर मुश्किलें बढ़ती नजर आ रही हैं। पीएम मोदी ने एक रैली में आरोप लगाया था कि पाकिस्तान गुजरात विधानसभा चुनावों में हस्तक्षेप कर रहा है। साथ ही उन्होंने कांग्रेस से उसकी पार्टी के आला नेताओं के हाल ही में पड़ोसी देश के नेताओं से मिलने पर स्पष्टीकरण भी मांगा।

इसके बाद ट्वीटर पर यूजर्स ने उनसे सवाल पूछने शुरू कर दिए। ‏@pankajsrini ने पूछा कि सर क्या दीपक कपूर को आगे आकर बताना नहीं चाहिए कि उस मीटिंग में क्या हुआ। ऐसा क्या है जो वो छिपा रहे हैं। @ravi_sec ने लिखा कि जनरल ने 1971 के युद्ध में भारत का बचाव किया लेकिन अब उन्हें अपने कॉन्टेक्ट्स को विस्तार से बताने की जरूरत है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App