ताज़ा खबर
 

पीएम मोदी ने पूछा- आखिर मुझसे इतनी नफरत क्यों है? इस शख्स ने बताई 22 वजह, वायरल हुई पोस्ट

अपने 22 कारण बताने के बाद शख्स ने ये भी लिखा- और आप पूछ रह हैं कि ‘लोग आपसे नफरत क्यों कर रहे हैं?’
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी।

फोसबुक पर एख पोस्ट इन दिनों वायरल हो रहा है। ये पोस्ट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सवाल पर एक युवक का जवाब है। ये जवाब 22 प्वाइंट्स में दिये गए हैं। दरअसल कांग्रेस पार्टी से निलंबित नेता मणिशंकर अय्यर द्वारा ‘नीच’ कहे जाने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुजरात विधानसभा चुनाव की रैलियों में कहा था कि, आखिर मुझसे इतनी नफरत क्यों है? लोगों का मुझ पर भरोसा करना गलत है क्या? साथ ही उन्होंने कहा था कि, क्योंकि मैं एक गरीब परिवार में पैदा हुआ हूं, क्योंकि मैं निचली जाति से आता हूं? क्योंकि मैं एक गुजराती हूं? क्या सिर्फ यही वजह है कि वो लोग मुझसे नफरत करते हैं। पीएम मोदी के इन सभी सवालों का एक फेसबुक यूजर देवदन चौधरी नाम के शख्स ने 22 सिलसिलेवार प्वाइंट्स में जवाब दिया है। ख़बर लिखे जाने जाने तक इस पोस्ट को तीन हजार से ज्यादा लोग शेयर कर चुके हैं। वहीं इस पोस्ट को चार हजार से ज्यादा लोग लाइक भी कर चुके हैं।

देवदन चौधरी ने अपने पोस्ट प्रधानमंत्री के सवाल के जवाब में ये 22 कारण बताए हैं:

1. डिमॉनेटाइजेशन से भारत की अर्थव्यवस्था को बर्बाद करने और फिर उसकी जिम्मेदारी नहीं लेने के लिए।
2. संगठित ध्रुवीकरण के माध्यम से संस्कृति को नष्ट करने के लिए – न सिर्फ धार्मिक, बल्कि क्षेत्रीय, भाषाई और सांस्कृतिक भी।
3. हिंदू धर्म / सनातन धर्म की गहन शिक्षाओं को नष्ट करने के लिए।
4. नकली राष्ट्रवाद की जड़ें जारी रखने के लिए आपका काम और नीतियां केवल भारत को नुकसान पहुंचा रही हैं।
5. सिर्फ सरकार, पर भारत की नहीं, बल्कि हिंदुओं और विदेशी निहित हितों के लिए- खासकर जियोनिस्ट वैश्विक बैंकिंग कार्टेल के लिए।
6. झूठे वादे जो हर रोज कई चैनलों के माध्यम से फैलाए जा रहे हैं।
7. भारतीय संविधान के सिद्धांतों का उल्लंघन करने के लिए।
8. डेम-फेनिंग मीडिया और संस्थानों द्वारा लोकतंत्र के खंभे को नष्ट करने के लिए जो सत्य और न्याय के किसी भी प्रकार की पेशकश करने के लिए महत्वपूर्ण हैं।

9. लोगों की आवाज सुनने के बजाए जबरन धमका कर निर्देश लागू करने के लिए।
10. नफरत को बढ़ावा देने के लिए।
11. स्वतंत्रता को रोकने के लिए हर तरीके की चाल चली गई।
12. 2014 से सभी मानव विकास अनुक्रमितों को डूबाने के लिए।
13. नकली नैतिकता का खेल खेलने के लिए।
14. जो लोग आपसे सवाल पूछना चाहते हैं, उनसे बचने के लिए, सरकार में आने के बाद अब तक कोई प्रेस कॉन्फ्रेंस नहीं हुई है।
15. जनसंपर्क, प्रचार, घटनाओं और प्रचार पर ध्यान केंद्रित करने के लिए, लेकिन राष्ट्र के वास्तविक मुद्दों पर नहीं।
16. भारत की पारंपरिक विदेश नीति को ‘गैर-गठबंधन’ तरीके से बर्बाद करने के लिए।
17. भाषण के माध्यम से- नफरत और लालच फैलाने के लिए।

18. अपने आस-पास चापलूस रखने के लिए, जिन्हें गवर्नेंस का बिलकुल भी ज्ञान नहीं।
19. महान विचारों/गलत प्राथमिकताओं के बारे में जुनूनी होने के लिए और वितरित करने में असफल रहने के लिए।
20. सामाजिक न्याय को नजरअंदाज करके ‘विकास’ के अर्थ को गलत तरीके से पेश करने के लिए।
21. अमीरी के लिए गरीब और मध्य वर्ग लोगों पर भार डालने के लिए।
22. लोगों का भरोसा तोड़ने के लिए।

अपने ये 22 कारण बताने के बाद देवदन चौधरी ने लिखा- और आप पूछ रह हैं कि ‘लोग आपसे नफरत क्यों कर रहे हैं?’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. J
    Jai bharat
    Dec 17, 2017 at 8:17 am
    Waah Devdan bhai aapane to sachche aur sudhdh mun se desh ke self prachaarit aur self pratadith pradhan mantri ki sachchai se jo nafarat ke kaaranon kaa ullekh kiya hai,saayad desh ka har sachcha deshwashi yahii sochata. Jyadatar samachar patron ko aur channels ko Yaa to paisa dekar muh band kar diye gaye aur bache khuche ko black money(notebandi) ke baad BJP samarthak dhannasethon ne khareed liya. Desh trahi trahi kar rahaa hai aur PMji America se SEA PLANE kiraaye mein manga kar vikash dikha rahe hain. Desh ne apane itihaas mein itana jh....th bolane waala neta nahiin dekha....
    (1)(0)
    Reply
    1. B
      Bhujangrao Thorat
      Dec 15, 2017 at 7:05 pm
      Sabhi Galat Mudde Hai !
      (3)(1)
      Reply
      1. V
        Vicky
        Dec 14, 2017 at 6:29 pm
        Koi kutta kuch bhi bhokega aur tum use news bana ke paros doge. Me jansatta se pounchta hu ki itni nafrat late kaha se ho apne pm ke liye kutt...
        (4)(1)
        Reply
        1. पंकज पुरेहित
          Dec 14, 2017 at 5:10 pm
          मैं 2200 कारण बता सकता हूं मोदी से प्रेम करने के........ क्या कोई प्रकाशित करेगा......................यदि हां तो मुझे desh.purohit पर मेल करें
          (5)(5)
          Reply
          1. Nirmit Brahmbhatt
            Dec 16, 2017 at 10:34 am
            Modi se Prem to jasoda Ben ne bhi Kiya tha badle main dhokha mila..
            (1)(1)
            Reply
            1. J
              Jai bharat
              Dec 17, 2017 at 8:21 am
              Janata ke prem kaa silaa 282 seats aur PM kaa janata ko paar se diya tohafa notebandi, mahgaai, Modi bhakton kii gaaliyan,jhoothe vaayade, Aur desh ka bantadhar
              (1)(0)
              Reply
            2. R
              Ramesh Prasher
              Dec 14, 2017 at 3:17 pm
              Where was this man during UPA regime? He did never raise his voice against the price rise to a level that even the present NDA government has not been able to contain the same, the rampant corruption at high level which the people have not forgot till now, disrespect of the majority community by taking them taken for granted raising slogans of Hindu Ugrawad, creating problems by giving reservations to affluent sections of the society, which has divided the society further.
              (7)(2)
              Reply
              1. D
                dharmvir prasad
                Dec 14, 2017 at 3:07 pm
                Only self declarer knowledgeable----------- The person who write the above sentence it self know every thing , all the points are base less, it is important only for the media like you......
                (6)(3)
                Reply
                1. R
                  Rajesh Kumar
                  Dec 14, 2017 at 2:55 pm
                  यह किसी चापलूस कांग्रेसी पिडी के सवाल हैं जो मोदी जी के भ्रष्टाचार विरोधी, काला धन विरोधी, बेनामी संपत्ति विरोधी और देशविरोधी शक्तियों के खिलाफ निर्णायक कदम उठाए जाने से त्रस्त और पीड़ित है।
                  (6)(7)
                  Reply
                  1. Load More Comments