ताज़ा खबर
 

राम रहीम की फिल्म ‘हिंद का नापाक को जवाब’ देखने के बाद लगाया पकौड़े का ठेला, बदल गई जिंदगी

डेरा सच्चा सौदा के गुरमीत राम रहीम सिंह इंसा भले की जेल में बलात्कार की सजा काट रहे हों लेकिन उनमें विश्वास जताने वाले एक शख्स की जिंदगी बदल चुकी है। बुधवार (18 जुलाई) को ट्विटर पर कुछ देर के लिए टॉप ट्रेंड में चले #HealthyLife को देखते हुए इस शख्स की स्टोरी पर नजर पड़ी। ChiLL PiXeL नाम के हैंडल से शेयर की गई किसी अखबार में प्रकाशित यह कहानी शेयर करने लायक लगी।

फोटो सोर्स- यूट्यूब और ट्विटर।

डेरा सच्चा सौदा के गुरमीत राम रहीम सिंह इंसा भले की जेल में बलात्कार की सजा काट रहे हों लेकिन उनमें विश्वास जताने वाले एक शख्स की जिंदगी बदल चुकी है। बुधवार (18 जुलाई) को ट्विटर पर कुछ देर के लिए टॉप ट्रेंड में चले #HealthyLife को देखते हुए इस शख्स की स्टोरी पर नजर पड़ी। ChiLL PiXeL नाम के हैंडल से शेयर की गई किसी अखबार में प्रकाशित यह कहानी शेयर करने लायक लगी। यह कहानी लाखों लोगों के लिए प्रेरणा का जरिया हो सकती है। चूंकि भारत में यह परंपरा रही है कि इंसान कैसा भी हो, अगर उसमें सें कुछ सीखे जाने की संभावना बनती है तो जरूर सीख लेना चाहिए, जैसे कि मृत्यु शैय्या पर पड़े रावण से राजनीति का ज्ञान लेने के लिए भगवान राम ने लक्ष्मण को उसके पास भेजा था सिर्फ इसलिए कि एक अर्से तक उसने दुनियाभर के असुरों पर एकछत्र राज किया था, जोकि सिर्फ राजनीति से ही संभव था। इसलिए यहां हम राम रहीम इंसा को महिमामंडित न करते हुए कहानी के असल किरदार की बात करते हैं।

सोशल मीडिया पर शेयर की गई कहानी के मुताबिक पंजाब के जिले संगरूर के लोगोंवाल में यह शख्स अंडे और मांस की रेड़ी लगाया करता था। नाम है जरनैल सिंह जैली। मीट और अंडे का काम करते हुए जैली नशे के संपर्क में आया और इसका असर उसकी व्यक्तिगत जिंदगी पर पड़ा। धीरे-धीरे वह नशे का आदी हो गया। नशे की लत की वजह से जैली दुखी रहने लगा। तभी 2017 में गुरमीत राम रहीम सिंह इंसा की फिल्म ‘हिंद का नापाक को जवाब – एमएसजी लायनहार्ट- 2’ आई। यह फिल्म ‘2016 में आई एमएसजी द वारियर लायनहार्ट- 1’ की अगली कड़ी थी। फिल्म का असर जैली पर ऐसा बैठा कि उसने मांस और अंडे का काम नहीं करने का मन बना लिया। जीवन यापन के लिए उसने पकौड़े और समोसे का ठेला लगा लिया। इस काम से जैली को अच्छी आमदनी होने लगी और धीरे-धीरे उसकी नशे की लत भी छूट गई।

हिंदू धर्म ग्रंथों के अनुसार किसी भी तरह की नशे की लत या मांसाहार तभी संभव है जब व्यक्ति प्रकृति के तीन गुणों में से एक तमो गुण के प्रभाव में हो। तम या यानी अंधकार, इस गुण के प्रभाव में व्यक्ति ऐसे काम करने लगता है जो उसे अंधकार की ओर धकेलते हैं। इसलिए कहा जाता है कि जो व्यक्ति तमो गुण के प्रभाव में हो, तो उसे रजो गुण और फिर सतो गुण के प्रभाव में आने की कोशिश करनी चाहिए। ग्रंथों के अनुसार यह तभी संभव है जब व्यक्ति शुद्ध आहार का सेवन करें और ऐसे लोगों की संगत करे जो सकारात्मक ऊर्जा से भरे हों। राम रहीम के पंडाल में निश्चित ही अच्छे लोगों का भी जमावड़ा होगा जिन्होंने जैली के मन-मस्तिस्क पर असर डाला होगा। फिलहाल जैली अपने परिवार के साथ खुशी-खुशी रहता है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 हार्दिक पंड्या ने डाली फोटो तो फैंस ने कहा- रन भी मार दे, जब देखो स्‍टाइल मारता रहता है
2 ‘झिंगाट’ की पैरोडी बना बीएमसी पर साधा निशाना, वायरल हो रहा आरजे मलिष्का का नया वीडियो
3 मौलाना ने टीवी डिबेट में महिला को पीटा, गिरफ्तारः एक्‍शन लेगा AIMPLB, ओवैसी बोले- बाहर निकालो
ये पढ़ा क्या?
X