ताज़ा खबर
 

मुस्लिम ड्राइवर होने की वजह से कैंसिल कर दी कैब की बुकिंग, ओला ने यूं दिया जवाब

मुस्लिम ड्राइवर होने पर कैब बुक करने की ट्विटर यूजर्स अभिषेक की काफी आलोचना कर रहे हैं। अभिषेक के ट्वीट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए एक यूजर ने लिखा, "बेशक संघी पागल, मध्यपूर्वी देशों से भी तेल का कॉन्ट्रेक्ट खत्म कर दो क्योंकि वे भी मुस्लिम हैं।"

Author नई दिल्ली | April 22, 2018 10:34 PM
ओला कैब सर्विस। (Photo: Reuters)

हाल ही में एक व्यक्ति ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक पोस्ट किया था जिसमें उसने बताया कि उसने एक कैब बुक करने के बाद कैंसिल कर दी क्योंकि उस कैब का ड्राइवर मुस्लिम था। इस शख्स का नाम अभिषेक मिश्रा है। अभिषेक ने अपने ट्विटर हैंडल पर कैब ड्राइवर की डिटेल के स्क्रीनशॉट के साथ लिखा, “ओला कैब बुकिंग कैंसिल कर दी क्योंकि ड्राइवर मुस्लिम था। मैं अपना पैसा जिहादी लोगों को नहीं देना चाहता हूं।” वहीं इस मामले पर ओल कैब कंपनी ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। ओला ने अपने अधिकारिक ट्विटर अकांउट से अभिषेक जैसे लोगों को संदेश दिया है।

ओला ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा है कि, ओला भी बिल्कुल हमारा देश की तरह ही एक धर्मनिरपेक्ष है। हम जाति, धर्म, जेंडर या पंथ के आधार पर अपने ड्राइवर, कर्मचारी और ग्राहकों के साथ भेदभाव नहीं करते हैं। हम अपने सभी ग्राहकों और ड्राइवर और भागीदारों के साथ समान और सम्मान वाला व्यवहार करते हैं और अन्य से भी यही आग्रह करते हैं।

वहीं मुस्लिम ड्राइवर होने पर कैब कैंसिल करने के मामले को लेकर ट्विटर यूजर्स अभिषेक की काफी आलोचना कर रहे हैं। अभिषेक के ट्वीट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए एक यूजर ने लिखा, “बेशक संघी पागल, मध्यपूर्वी देशों से भी तेल का कॉन्ट्रेक्ट खत्म कर दो क्योंकि वे भी मुस्लिम हैं।” एक ने लिखा, “क्या यह व्यक्ति जानता है कि इतने सालों से जो तेल इस्तेमाल कर रहा है वह कहां से आ रहा है।” एक ने लिखा, “प्रिय ओला कैब, इसपर विचार करना कि यह कट्टर साम्प्रदायिक व्यक्ति आपके साथ फिर से राइड न कर सके।” एक ने लिखा, “बहुत ही घटिया सूच है।” एक ने लिखा, “बहुत ही घटिया सूच है।” एक ने लिखा, “आप मुझे अपना पता बताएं ताकि आपको गुलाब भेज सकूं। आशा करता हूं कि यह आपकी नफरत को कम कर देगा।”

अभिषेक का ट्विटर अकाउंट वेरिफाइड है और उसे पीएम नरेंद्र मोदी कैबिनेट के कई केंद्रीय मंत्री फॉलो करते हैं, जिनमें निर्मला सितारमन, धर्मेंद्र प्रधान शामिल हैं। अभिषेक की प्रोफाइल की बात करें तो वह कट्टर हिंदुत्ववादी की दिखाई पड़ती है। अभिषेक ने अपने बायो में भी हिंदुत्व विचारक लिखा हुआ है। खुद की आलोचना होते हुए अभिषेक ने एक और ट्वीट करते हुए दावा किया कि कुछ लोग हनुमान के रुद्र रूप की तस्वीर कैब के पीछे लगी देखकर बुकिंग कैंसिल कर सकते हैं तो मैंने क्या गलत किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App