ताज़ा खबर
 

गौरी लंकेश की हत्या पर हंगामा करने वालों पर बरसीं मालिनी अवस्थी, बोलीं- हिन्दी भाषियों तुम्हारी कोई औकात नहीं

पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या पर मीडिया से लेकर सोशल मीडिया तक में हंगामा मचा हुआ है।

तत्कालीन राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से पद्मश्री सम्मान लेतीं मालिनी अवस्थी।

5 सितंबर की रात बेंगलुरु में महिला पत्रकार गौरी लंकेश को उनके घर के बाहर ही कुछ अज्ञात हमलावरों द्वारा गोली मारकर हत्या कर दी। इस तरह से पत्रकार की हत्या पर मीडिया से लेकर सोशल मीडिया तक में हंगामा मचा हुआ है। सोशल मीडिया पर लोग लिख रहे हैं कि किसी विचारधारा के खिलाफ लिखने वाली महिला पत्रकार की इस तरह से हत्या लोकतंत्र की हत्या है। पत्रकारों की संस्था ब्रॉडकास्टर एडिटर्स एसोसियेशन ने इस हत्या की कड़ी निंदा करते हुए देश भर के प्रेस क्लबों में विरोध प्रदर्शन करते हुए कातिलों को तुरंत गिरफ्तार करने की मांग की है। इस मामले में माहौल तब और खराब हो गया जब कुछ लोगों ने पत्रकार गौरी शंकर की हत्या को सही ठहराते हुए उनके लिए बेहद आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल किया। इसमें से कुछ लोग ऐसे भी थे जिन्हें ट्विटर पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी फॉलो करते हैं। इस बात के विरोध में लोगों ने ट्विटर पर प्रधानमंत्री को ब्लॉक करने का अभियान भी छेड़ रखा है।

पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के बाद उपजे इस रोष पर पद्मश्री से सम्मानित मशहूर लोक गायिका मालिनी अवस्थी ने इस मामले में हंगामा करने वालों पर हमला बोला है। मालिनी अवस्थी ने फेसबुक पोस्ट लिख कर कहा है कि देश में बहुत से पत्रकारों की हत्या हुई लेकिन इतना हंगामा सिर्फ गौरी लंकेश की मौत पर ही इसलिए हो रहा है क्योंकि वह एक अंग्रेजी पत्रकार थीं। मालिनी ने ये भी लिखा है कि हिंदी भाषी पत्रकार हमेशा से इस तरह की हत्याओं के शिकार होते रहे हैं लेकिन उनके लिए किसी ने कभी इस तरह से हंगामा नहीं किया है।

आपको बता दें कि मालिनी अवस्थी एक भारतीय लोक गायिका हैं। वह हिन्दी भाषा की बोलियों जैसे अवधी, बुंदेली भाषा और भोजपुरी में गाती हैं। भारत सरकार ने उन्हें कला के क्षेत्र में उनके योगदान के लिए 2016 में नागरिक सम्मान पद्मश्री से सम्मानित भी किया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App