बुर्का, घूंघट और हिजाब फिर से आए वापस – बोले माजिद हैदरी, एंकर ने लगाई फटकार – इसको थोपने की हिमाकत मत करना

उनकी इस बात पर बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने भी नाराजगी जताते हुए कहा कि क्या कह रहे हैं आप। गजब की बात कर रहे हैं।

Talibani Life, Taliban Mahila
एक डिबेट के दौरान माजिद हैदरी ने कहा कि देश में बुर्का और घूंघट वापस लाइए। (फोटो सोर्स – पीटीआई)

तालिबान ने अफगानिस्तान में अपनी सरकार बनाने का ऐलान कर दिया है। उनकी सरकार में एक भी महिला शामिल नहीं है। अफगानिस्तान सरकार में महिलाओं को शामिल न करने के मुद्दे पर तमाम देशों ने इसकी आलोचना की है। जिसके बाद तालिबान के प्रवक्ता जबिउल्लाह मुजाहिद की तरफ से कहा गया है कि उनकी सरकार आने वाले समय में महिलाओं को भी शामिल करेगी। इसी मुद्दे पर एक न्यूज़ चैनल में डिबेट हो रही थी जिसमें कश्मीर के जानकार माजिद हैदरी ने कहा कि देश में फिर से बुर्का, घूंघट और हिजाब फिर से आए वापस लाया जाए, जिसपर एंकर भड़क गईं।

आज तक न्यूज़ चैनल के कार्यक्रम ‘हल्ला – बोल’ में चल रही एक डिबेट के दौरान माजिद हैदरी ने कहा कि देश में बुर्का और घूंघट वापस लाइए। उन्होंने अपनी बात को दोहराते हुए कहा कि, ‘बुर्का, और हिजाब लाइए कृपा करके…। कम से कम जो बलात्कार के केस है वह कम हो जाएंगे। उनकी इस बात पर बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने भी नाराजगी जताते हुए कहा कि क्या कह रहे हैं आप। गजब की बात कर रहे हैं।

माजिद हैदरी की इस बात पर अंजना ओम कश्यप ने भड़क गईं। उन्होंने कहा कि माजिद जी.. मैं हमेशा सोचती थी कि आपकी जो भी निजी सोच हो लेकिन आप पढ़े लिखे इंसान हैं, लेकिन अब आप जिस तरह की बात कर रहे हैं। मुझे लग रहा है कि इस बहस में सिर्फ अंधेरा बिखेर रहे हैं। उन्होंने माजिद हैदरी को डिबेट से बाहर का रास्ता दिखाते हुए कहा कि आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

माजिद हैदरी पर चिल्लाते हुए अंजना ओम कश्यप ने कहा कि माजिद हैदरी यह हिंदुस्तान है और यहां पर जो महिलाओं को आजादी है वो हमेशा रहेगी। ये जिसको पहनना है वह पहने..इसको थोपने की हिमाकत न करें कोई इस देश में.. शांति से बैठिए आप। अंजना ओम कश्यप ने उनको हड़काते हुए कहा कि हमने आपका ज्ञान देख लिया है.. पता नहीं कौन से भंवर से उठकर चले आए हैं।

इस न्यूज़ चैनल की डिबेट पर तमाम लोगों ने अपनी प्रतिक्रिया भी दी है। एक टि्वटर यूजर ने कमेंट किया कि जब सारी चीजों में बदलाव हो रहा है तो औरतों को ये लोग क्यों दबाकर रखना चाहते हैं? एक काम करो तुम खुद बुर्का और घूंघट में रहो। @Dazzler36253716 टि्वटर हैंडल से कमेंट किया गया कि बुर्का, घूंघट और हिजाब वापस लाने के बजाय अपनी आंखें खोलने पर विचार क्यों नहीं करते ये कट्टर लोग?

पढें ट्रेंडिंग समाचार (Trending News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट