कांग्रेस नेता है मध्‍य प्रदेश में हिंसक किसान आंदोलन का अगुवा? सोशल मीडिया पर दी सफाई - Madhya Pradesh Farmers' Protest : Congress Leader Faizan Khan is alleged to have ignited the violence - Jansatta
ताज़ा खबर
 

कांग्रेस नेता है मध्‍य प्रदेश में हिंसक किसान आंदोलन का अगुवा? सोशल मीडिया पर दी सफाई

मध्य प्रदेश में किसान आंदोलन के दौरान बुधवार को भारी हिंसा हुई।

फैजान खान के फेसबुक अकाउंट पर यह सभी तस्‍वीरें मौजूद हैं। (Source: Facebook)

मध्‍य प्रदेश में चल रहे किसान आंदोलन को हफ्ता भर हो चला है, मगर हिंसक स्थिति बरकरार है। इस पूरे आंदोलन का एक बड़ा असर सोशल मीडिया पर दिख रहा है, वहीं से इस पूरे आंदोलन को हवा दी गई। इन्‍हीं में से एक शख्‍स जो चर्चा में है, उसे कांग्रेस कार्यकर्ता फैजान खान बताया जा रहा है। वह कई बार मीडिया में किसानों की तरफ से बोलते देखा गया है। सोशल मीडिया पर उसकी कुछ तस्‍वीरें हैं तो काफी शेयर हो रही हैं। इनमें पहली तस्वीर में फैजान मध्य प्रदेश किसान आंदोलन के दौरान मीडिया के सामने किसानों का पक्ष रख रहा है। लेकिन दूसरी तस्वीर में फैजान खान विमान के सामने सेल्फी लेता दिख रहा है। तीसरी तस्वीर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के साथ है। फैजान खान की किसान आंदोलन के दौरान की तस्वीर, एरोप्लेन के सामने सेल्फी और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह के साथ तस्वीर, तीनों सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रही हैं। एक फेसबुक पोस्ट में इन तीनों तस्वीरों के साथ यूजर ने लिखा- “इस आदमी का दावा है कि वह ‘किसान नेता’ है। देखिए 2 और 3 वह एक कांग्रेस समर्थक है और न गरीब। वह मध्य प्रदेश में हिंसक आंदोलन का नेतृत्व कर रहा है और इसका नाम फैजान खान है!!! इन विरोधी नागरिकों को शेयर करें और बेनकाब करें।”

इस फेसबुक पोस्ट को एक घंटे में 22 से ज्यादा लोगों ने शेयर किया और बहुत से लोगों ने कमेंट किये हैं। सुनील कुमार फेसबुक यूजर ने कमेंट किया- “इसकी टी-शर्ट उठा कर देखो, आपको जाकिर नाईक के चेहरे के टेटू बने दिखेंगे।” इस कमेंट पर खुद फैजान खान बिफर पड़े और धड़ाधड़ अपने पक्ष में लगातार कई कमेंट कर दिए, फैजान का कहना है कि- “किसी गरीब के लिये आवाज उठाना गलत है क्या, फोटो खींचना गलत है क्या, आप मेरी पिक्स को देखकर साबित क्या करना चाहते हैं कि मैं गरीब नहीं हूं।” वहीं रश्मी सिहंगल ने लिखा- “विपक्ष मोदी जी को नुकसान पहुंचाने के लिए पूरी तरह बेकरार है चाहे उसके लिए कुछ भी करना पड़े।” इसके जवाब में फैजान ने लिखा- “गलत खबर है, मैं तुम्हारा दोस्त हूं लेकिन ये खबर गलत है, शर्म आनी चाहिए, ये खबर गलत है और झूठी है मुझे बदनाम करने के लिए।” साथ ही फैजान ने कमेंट करते हुए अपना मोबाइल नंबर भी दे दिया।

बता दें कि मध्य प्रदेश में किसान आंदोलन के दौरान बुधवार को भारी हिंसा हुई। मंदसौर और नीमच के अलावा देवास जिला भी आंदोलन की आग में झुलस गया। यहां पुलिस थाने, पुलिस चौकी के साथ चार्टर्ड बस, ट्रक, पुलिस की गाड़ियां और फायर ब्रिगेड की दमकल सहित दर्जनों गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया गया। मंदसौर में उग्र भीड़ ने एसडीएम और एसडीओपी में तोड़फोड़ की। वहीं, हाटपीपल्या में थाने में तोड़फोड़ के बाद वहां खड़ी दो फायर ब्रिगेड, एक पुलिस की जीप, 50 बाइक, दो बस, 6 कार सहित दो ट्रक में आग लगा दी थी। इसके बाद प्रदर्शनकारी नेवरी पहुंचे, यहां भी तोड़फोड़ की। वहीं घटना के बाद रतलाम जिला पुलिस अधीक्षक अमित सिंह ने फरार हुए किसान नेता और कांग्रेस से सम्बद्ध डीपी धाकड़, राजेश भार्गव और भगवती पाटीदार की गिरफ्तारी पर 10,000 रुपये का इनाम घोषित किया है। किसान एक जून से हड़ताल कर रहे हैं। मध्यप्रदेश में एक जून से 10 जून तक किसानों ने हड़ताल का ऐलान किया। उनकी मांग है कि-

-स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशों को लागू किया जाए।
-किसानों का कर्ज माफ़ किया जाए।
-किसानों को उचित समर्थन मूल्य दिया जाए।
-मंडी का रेट निर्धारण हो।
-किसानों को पेंशन दी जाए।

किसान आंदोलन: आरएसएस नेता ने ही कर रखा है शिवराज सरकार की नाक में दम

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App