ताज़ा खबर
 

MP Election 2018: वोट देकर बूथ से निकले कमलनाथ ने इशारे से दिखाया कांग्रेस का निशान? टि्वटर पर छिड़ी बहस

Madhya Pradesh (MP) Election/Chunav 2018: नियमों के मुताबिक कोई भी व्यक्ति पोलिंग बूथ पर किसी भी राजनैतिक पार्टी का प्रचार नहीं कर सकता है और यदि कोई व्यक्ति या नेता ऐसा करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है।

Madhya Pradesh Election 2018: कांग्रेस नेता कमलनाथ की छिंदवाड़ा में वोट डालने के बाद की एक तस्वीर। (image source-ANI)

Madhya Pradesh (MP) Election/Chunav 2018: मध्य प्रदेश विधानसभा की 230 सीटों के लिए आज राज्य में वोट डाले जा रहे हैं। प्रदेश में वोटिंग सुबह 8 बजे शुरु हो चुकी है और सुबह 9 बजे तक राज्य में 6 फीसदी वोटिंग होने की खबर है। इसी बीच कई नेता भी अपने-अपने पोलिंग बूथ पर जाकर वोट डाल रहे हैं। मध्य प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने भी छिंदवाड़ा में अपना वोट डाला। हालांकि वोट डालने के बाद कमलनाथ पार्टी का सिंबल दिखाने के चलते निशाने पर आ गए हैं। दरअसल कमलनाथ ने वोट डालने के बाद पोलिंग बूथ से बाहर आकर एक हाथ से अपनी ऊंगली पर वोटिंग की लगी हुई स्याही दिखाई, वहीं दूसरे हाथ से उन्होंने पंजा बनाकर दिखाया। बता दें कि हाथ का पंजा कांग्रेस पार्टी का चुनाव चिन्ह है। यही वजह है कि कुछ लोग इसे चुनावी कोड ऑफ कंडक्ट का उल्लंघन बता रहे हैं और पोलिंग बूथ पर अपनी पार्टी का प्रचार करने के लिए कमलनाथ की आलोचना कर रहे हैं।

नियमों के मुताबिक कोई भी व्यक्ति पोलिंग बूथ पर किसी भी राजनैतिक पार्टी का प्रचार नहीं कर सकता है और यदि कोई व्यक्ति या नेता ऐसा करता है तो उसके खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है। कुछ भाजपा नेताओं ने भी इस पर आपत्ति जतायी है और कमलनाथ के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है। उल्लेखनीय है कि इससे पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी ऐसी ही एक घटना को लेकर लोगों के निशाने पर आ चुके हैं। दरअसल साल 2014 लोकसभा चुनाव के दौरान उस वक्त भाजपा के पीएम पद के उम्मीदवार नरेंद्र मोदी ने गुजरात के अहमदाबाद में अपना वोट डालने के बाद पार्टी के चुनाव चिन्ह कमल के निशान के साथ अपनी सेल्फी ली थी। उस वक्त भी इसे चुनाव कोड ऑफ कंडक्ट का उल्लंघन माना गया था और उनकी उम्मीदवारी रद्द तक करने की मांग की गई थी। अब उसी तरह कमलनाथ भी वोट डालने के बाद हाथ का पंजा दिखाकर घिर गए हैं और सोशल मीडिया यूजर्स इस मुद्दे पर जमकर बहस कर रहे हैं। मामले के तूल पकड़ता देख कांग्रेस नेता कमलनाथ ने इस मुद्दे पर अपनी सफाई दी है। कमलनाथ ने कहा कि “मैं अपना वोट डाल चुका था। जब लोगों और मीडिया वालों ने मुझसे पूछा कि मैंने अपना वोट किसे दिया? तब मैंने ये (हाथ का पंजा) दिखाया। मुझे और क्या दिखाना चाहिए था? कमल का फूल?”

बता दें कि आज मध्य प्रदेश विधानसभा की 230 सीटों के लिए 52 जिलों में वोट डाले जा रहे हैं। 2907 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं। जिनकी किस्मत का फैसला राज्य के 5.4 करोड़ मतदाता करेंगे। मध्य प्रदेश में साल 2003 से भाजपा लगातार सत्ता पर काबिज है। यही वजह है कि इस बार भाजपा को राज्य में सत्ता विरोधी लहर का सामना करना पड़ सकता है। फिलहाल राज्य में शांतिपूर्ण मतदान जारी है और कई जगह से ईवीएम मशीनों के खराब होने की सूचनाएं भी मिली हैं, जिन्हें बदल दिया गया है या फिर बदला जा रहा है। राज्य में मतदान के चलते सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App