ताज़ा खबर
 

यूजर ने जताई उम्‍मीद- हर ट्वीट पढ़ते होंगे, शिवराज सिंह ने दिया ऐसा जवाब कि बोला- धन्‍यवाद मामा जी

मध्य प्रदेश में शिवराज सबसे लोकप्रिय नेता माने जाते हैं। सब उन्हें मामा कहकर पुकारते हैं। कारण शिवराज ने खुद बताते हुए कहा था, "मैं जनता को परिवार मानता हूं। सीएम बना तो लाडली योजना शुरू की। बेटी के जन्म से मृत्यु सरकार उसके खड़ी की। लोगों के मन में मेरे लिए भाव बनता गया कि सीएम उनके लिए सोचता है, लिहाजा उन्होंने मुझे मामा बुलाना शुरू कर दिया।"

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान। (फाइल फोटो)

सोशल मीडिया के जमाने में नेता भी अपने अकाउंट्स पर सक्रिय रहते हैं। फेसबुक से लेकर टि्वटर तक वे निगाह बनाए रखते हैं। अपनी तस्वीरें और अपडेट्स से लोगों को रू-ब-रू कराते रहते हैं। ऐसे ही नेताओं की फेहरिस्त में मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के दिग्गज नेता शिवराज सिंह चौहान भी हैं। वह भले ही किए गए हर ट्वीट जवाब न दे पाएं। लेकिन उससे गुजरते जरूर हैं। कुछ भी नजरअंदाज नहीं करते। ये दावा सीएम ने खुद किया है। साथ ही कहा है कि वह लोगों के अच्छे सुझावों और शिकायतों पर कार्रवाई के निर्देश भी इसी के बाद देते हैं। आपको बता दें कि मध्य प्रदेश में शिवराज सबसे लोकप्रिय नेता माने जाते हैं। सब उन्हें मामा कहकर पुकारते हैं।

कारण शिवराज ने खुद बताते हुए कहा था, “मैं प्रदेश की साढ़े सात करोड़ जनता को अपना परिवार मानता हूं। सीएम का ओहदा मिला तो मैंने लाडली लक्ष्मी योजना शुरू की। बेटी के जन्म से अंतिम सांस तक सरकार को उसके साथ खड़ा कर दिया। बेटियों के बाद यहीं से मेरे लिए भाव बनता गया कि उनका सीएम उनके लिए कितना सोचता है, लिहाजा उन्होंने मुझे मामा बुलाना शुरू कर दिया।”

शिवराज की ओर से यह प्रतिक्रिया तब आई, जब एक सोशल मीडिया यूजर ने उनसे हर ट्वीट पढ़ने की उम्मीद में पोस्ट किया था। हुआ यूं कि शिवराज ने गुरुवार (22 मार्च) को एक ट्वीट करते हुए लिखा, “आप चाहे जितना भी पब्लिक का डेटा चुरा कर वोटों की हेरा-फेरी की कोशिश कर लीजिए। पर हमनें तो जनता का दिल चुराया है। उसकी हेरा-फेरी कैसे करोगे?”

प्रतिक्रिया देते हुए तुषार द्वेदी नाम के युवक ने लिखा, “सीएम जी का कभी रिप्लाई तो नहीं आया। लेकिन उम्मीद है कि वह हर ट्वीट पढ़ते होंगे। आप मप्र के सबसे लोकप्रिय नेता हैं।” सीएम ने इसके जवाब में कहा, “हर ट्वीट का रिप्लाई करना संभव नहीं होता है। लेकिन मैं पढ़ता जरूर हूं। आप के अच्छे सुझाव और शिकायतों पर भी फौरन कार्रवाई करने के लिए निर्देश देता रहता हूं।” अंत में तुषार उनकी बात जानकर यह लिखते हैं, “धन्यवाद मामा जी।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App