ताज़ा खबर
 

इस चैंपियन ने राष्ट्रपति पर उड़ेल दी थी शैंपेन, जीता तो यूं मिली वॉर्निंग

वीडियो में दिखाई दे रहा है कि कुछ देर बात करने के बाद लुइस हैमिल्टन मुस्कुराते हुए वहां से चले जाते हैं। ऐसी खबरें आ रही हैं कि रुसी राष्ट्रपति ने मर्सिडीज के ड्राइवर को हल्के अंदाज में चेतावनी दी है।

व्लादिमीर पुतिन लुइस हैमिल्टन को विजेता ट्रॉफी सौंपते हुए। (AP Photo/Sergei Grits)

फार्मूला वन कार रेसिंग के चैंपियन खिलाड़ी लुइस हैमिल्टन ने रूस के सोची में आयोजित हुई रशियन ग्रांड प्रिक्स रेस जीतकर फार्मूला वन चैंपियन बनने की तरफ मजबूती से कदम बढ़ा दिए हैं। रशियन ग्रांड प्रिक्स में लुइस हैमिल्टन ने अपनी टीम के साथी वल्टेरी बोटास को ढाई सेकेंड से मात देकर तीसरे स्थान पर धकेल दिया, वहीं फेरारी के सेबेस्टियन वेट्टल इस रेस में दूसरे स्थान पर रहे। हालांकि रशियन ग्रांड प्रिक्स फार्मूला रेस में लुइस हैमिल्टन एक अन्य कारण से भी चर्चा में रहे। दरअसल हैमिल्टन को रशियन राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से चेतावनी मिली है। रेस के दौरान रशियन राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन और लुइस हैमिल्टन की मुलाकात की एक वीडियो फुटेज वायरल हो रही है। इस वीडियो में रशियन राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन एक ट्रांसलेटर के सहारे लुइस हैमिल्टन से बातचीत कर रहे हैं।

वीडियो में दिखाई दे रहा है कि कुछ देर बात करने के बाद लुइस हैमिल्टन मुस्कुराते हुए वहां से चले जाते हैं। वीडियो में सुनाई दे रहा है कि पुतिन का ट्रांसलेटर हैमिल्टन से कह रहा है कि वह आपको चेतावनी दे रहे हैं कि आप साल दर साल शैंपेन उड़ेलते हैं। इस पर हैमिल्टन कहते हैं कि पिछले साल वह नहीं थे बल्कि किसी और ने ऐसा किया था। दरअसल 3 साल पहले भी लुइस हैमिल्टन ने रशियन ग्रांड प्रिक्स जीती थी। इस दौरान प्राइज सेरेमनी के दौरान लुइस हैमिल्टन ने जोश-जोश में रुसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन पर ही शैंपेन उड़ेल दी थी। हालांकि तब व्लादिमीर पुतिन इस पर मुस्कुराते नजर आए थे। लेकिन माना जा रहा है कि इस बार व्लादिमीर पुतिन ने ऐसी किसी भी घटना से बचने के लिए पहले ही हैमिल्टन को सचेत कर दिया है। वीडियो फुटेज में जब ट्रांसलेटर ने हैमिल्टन को शैंपेन उड़लने को सचेत किया तो हैमिल्टन इस दौरान थोड़ा झेंपते भी दिखाई दिए थे।

बता दें कि व्लादिमीर पुतिन हाल ही में उस वक्त भी सुर्खियों में थे, जब रुस के एक जासूस को ब्रिटेन के सेलिसबेरी में जहर देने की कोशिश की गई थी। इस मामले में रूस के पूर्व जासूस सर्गेई सक्रीपाल और उनकी बेटी को जहर देकर मारने की कोशिश की गई थी। इस घटना के बाद ब्रिटेन और रुस के रिश्तों में काफी तल्खी बढ़ गई थी। ब्रिटेन सरकार ने इस घटना के लिए सीधे तौर पर रुसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को जिम्मेदार ठहराया था और बदला लेने की बात कही थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App