ताज़ा खबर
 

‘फर्जी फोटो’ पर घिरे लालू तो लिखा- इनकी छाती पर सांप लोट गया, फिर मजाक उड़ा

बीते रविवार (27 अगस्त) को पटना के गांधी मैदान में आयोजित ‘भाजपा भगाओ, देश बचाओ’ रैली में विपक्षी एकता देखने को मिली। रैली में विपक्ष के 17 दलों के नेताओं ने शिरकत की।
आरजेडी नेता लालू यादव। (फाइल फोटो)

बीते रविवार (27 अगस्त) को पटना के गांधी मैदान में आयोजित ‘भाजपा भगाओ, देश बचाओ’ रैली में विपक्षी एकता देखने को मिली। रैली में विपक्ष के 17 दलों के नेताओं ने शिरकत की। हालांकि, इस रैली में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और उपाध्यक्ष राहुल गांधी नहीं आए लेकिन रैली के दौरान सोनिया गांधी का रिकॉर्डेड संदेश सुनाया गया। अपने संदेश में सोनिया ने कहा कि बिहार में जनादेश का अपमान हुआ है। राहुल गांधी के लिखित संदेश को प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष अशोक चौधरी ने पढ़कर सुनाया। इस रैली में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी समेत 6 पूर्व मुख्यमंत्री और करीब दर्जनभर पूर्व केंद्रीय मंत्रियों ने शिरकत की। सभी ने केंद्र की मोदी सरकार और नीतीश कुमार की आलोचना की। रैली में लालू-राबड़ी समेत जिन 6 पूर्व मुख्यमंत्रियों ने शिरकत की उनमें उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव, झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और झाविमो नेता बाबूलाल मरांडी, पूर्व सीएम और झामुमो नेता हेमंत सोरेन और जम्मू-कश्मीर के पूर्व सीएम और कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद शामिल थे।

इनके अलावा एनसीपी नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री तारिक अनवर, आरएलडी नेता जयंत चौधरी समेत कई विपक्षी दलों के नेताओं ने भी रैली को संबोधित किया। रैली को संबोधित करते हुए शरद यादव ने कहा कि इंकलाब जारी रहेगा। उन्होंने कहा कि फिर महागठबंधन बनेगा और किसान-मजदूर राज करेगा। शरद ने कहा कि वो हमेशा से गरीबों किसानों के साथ खड़े रहे हैं। उन्होंने कहा कि आज देश खतरे में है।

दूसरी तरफ पटना रैली को कामयाब होता देख आरजेडी चीफ लालू प्रसाद ने ट्वीट कर विपक्ष पर निशाना साधा है। उन्होंने अपने बेटे और बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव का ट्वीट रिट्वीट करते हुए लिखा, ‘इनकी छाती पर सांप लौट गया।’ गौरतलब है लालू यादव ने जिस ट्वीट को रिट्वीट किया है उसमें रविवार को हुई रैली का वीडियो भी है। जिसे शेयर करते हुए तेजस्वी यादव ने लिखा है, ‘भाजपाई परेशान। अरे भाई हमारी रैली में एक भी आदमी नहीं आया तो आप काहे परेशान हैं? अब सोईए आराम से।’ वहीं कई यूजर्स ने लालू के ट्वीट पर अपनी प्रतिक्रियाएं दी हैं। कई यूजर्स ने लालू के पक्ष तो कई यूजर्स ने उनके विरोध में ट्वीट किए हैं।

निधि महेश्वरी लिखती हैं, ‘इनकी छाती पर सांप ‘लौट’ गया नहीं इनकी छाती पर सांप लोट गया। मोदी जी से हिंदी की ट्रेनिंगवा ले लीजिए।’ राजपाल दूलर लिखते हैं, ‘ये दिवाली ही नहीं, अपने बचे खुचे जीवन की दिवालियां जेल में बिताने की तैयारी करो लल्लू?’ राकेश दो तस्वीरों को शेयर करते हुए लिखते हैं, ‘2017: लालू की रैली में 18 विपक्षी पार्टियां। 2013: अकेले पीएम नरेंद्र मोदी की रैली।’ कुलदीप लिखते हैं, ‘रैली देखकर भक्तों और उनके आका की परेशानी बढ़ गई है।’ साक्षी कुमार लिखती हैं, ‘अच्छे विचार हैं।’ जानकारी के लिए बता दें कि इससे पहले लालू यादव ने गांधी मैदान की एक तस्वीर शेयर की थी। जिसपर आरोप लगे थे कि तस्वीर के साथ कथित तौर पर छेड़छाड़ की गई है।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.