ताज़ा खबर
 

गृह मंत्रालय ने दी ऐसी जानकारी कि मोदी सरकार पर भड़के कुमार विश्‍वास, पूछा- आप क्‍या चिप्‍स तल रहे हो?

कुमार विश्वास ने गृह मंत्रालय के इस ट्वीट के बाद लिखा कि 'तो आप क्या चिप्स तल रहे हो? केंद्र की-राज्य की सरकार-सेना-पुलिस-I.B.-लफ़्फ़ाज़ी-चैनल चकल्लस सब आप करोगे और देश-विरोधी गतिविधियों को जनता भुगतेगी ?

Author Published on: March 28, 2018 5:16 PM
आम आदमी पार्टी नेता कुमार विश्वास (फोटो सोर्स- एक्सप्रेस फोटो/गजेंद्र यादव)

केंद्रीय गृह मंत्रालय ने सोशल साइट ट्वविटर पर एक ऐसी जानकारी साझा की है जिसपर कविराज कुमार विश्वास लाल हो गये हैं। भड़के कुमार विश्वास ने गृह मंत्रालय के इस ट्वीट के बाद लिखा कि ‘तो आप क्या चिप्स तल रहे हो? केंद्र की-राज्य की सरकार-सेना-पुलिस-I.B.-लफ़्फ़ाज़ी-चैनल चकल्लस सब आप करोगे और देश-विरोधी गतिविधियों को जनता भुगतेगी ? चलो, अब कड़ी निंदा कर दो या नेहरू को ज़िम्मेदार ठहरा दो’। आपको बता दें कि गृहमंत्रालय ने ट्वीट कर बतलाया है कि श्रीनगर समेत कश्मीर घाटी के कई जिलों में बंद कैदी देश विरोधी गतिविधियों का संचालन कर रहे हैं। गृह मंत्रालय द्वारा इस जानकारी को साझा करने पर कुमार विश्वास भड़क उठे हैं।

इससे पहले बुधवार (28 मार्च) को राज्यसभा में गृह मंत्रालय ने लिखित रुप से बतलाया कि जम्मू-कश्मरी के DGP को इनपुट के आधार पर जानकारी मिली है कि श्रीनगर समेत कश्मीर घाटी के कई जिलों में बंद कैदी देश विरोधी गतिविधियों का संचालन कर रहे हैं। इस रिपोर्ट में ऐसे कैदियों के तत्काल ट्रांसफर करने पर भी जोर दिया गया है। रिपोर्ट में सुझाव दिया गया है कि सुरक्षा के लिहाज से इन कैदियों को कश्मीर घाटी के बाहर की जेलों में ट्रांसफर कर दिया जाए।

यहां आपको बता दें कि इससे पहले इसी साल 12 मार्च को श्रीनगर जेल में सीआरपीएफ, एनएसजी, तथा बीडीएस की एक टीम ने सघन तलाशी अभियान चलाया था। इस छापेमारी के बाद पहले खबर आई थी कि जेल से पाकिस्तानी झंडा बरामद किया गया है। बाद में सूत्रों के हवाले से यह खबर आई कि छापेमारी दस्ते को छापेमारी के दौरान कुछ मोबाइल फोन, सिम कार्ड, आइपॉड, एक पाकिस्तानी झंडा, और जिहादी साहित्य बरामद हुए हैं।

यहां आपको याद दिला दें कि 6 फरवरी को लश्कर-ए-तैय्यबा का एक खूंखार आतंकी नावेद जाट उर्फ अबू हुनजुल्लाह मेडिकल चेकअप के वक्त फरार हो गया था। नावेद अपने साथियों की मदद से एसएमएचएस हॉस्पीटल के पास से भागने में कामयाब हुआ था। उस वक्त आतंकियों ने दो वहां दो पुलिसकर्मियों की हत्या भी कर दी थी। इस घटना के बाद श्रीनगर सेंट्रल जेल में बंद पड़े आतंकवादियों को कश्मीर घाटी के बाहर की जेलों में लाया गया था। 12 मार्च को जेल में हुई छापेमारी भी इसी घटना को ध्यान में रखकर की गई थी। अब एक बार फिर घाटी के जेलों में बंद आतंकियों के देश विरोधी गतिविधियों में शामिल होने की जानकारी गृहमंत्रालय को मिली है जो सुरक्षा के लिहाज से बेहद संवेदनशील है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 वीडियो: बाहर प्रदर्शन कर रहे थे लोग, अचानक हिरन का पैर काटने लगा रेस्‍तरा का मालिक
2 वीडियो: 9 महीने की गर्भवती महिला ने किया पोल डांस, जानिए क्‍यों
3 कभी शानोशौकत का था सिंबल, अब बिकने को तैयार है विजय माल्या का यह लग्जरी प्लेन