ताज़ा खबर
 

उत्‍तराखंड में मुस्लिमों ने नागा साधु को पीटा? जानिए वायरल हो रहे वीडियो की सच्‍चाई

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो को लेकर यह बताया जा रहा है कि उत्तराखंड में नागा साधु को एक मुसलमान लड़का बुरी तरह पीट रहा है। लेकिन इसकी हकीकत कुछ और है।

सोशल मीडिया पर पिटाई का वीडियो वायरल (Photo: Video grab)

सोशल मीडिया पर आए दिन कुछ ऐसे वीडियो वायरल होते रहते हैं, जिनके माध्यम से गलत संदेश फैलाने की कोशिश की जाती है। इन दिनों ऐसा ऐसा ही वीडियो वायरल हो रहा है। इस वीडियो को यह कहकर प्रसारित किया जा रहा है कि, “देहरादून में एक मुसलमान लड़का नागा साधु को बुरी तरह पीट रहा है। जब लोगों ने आपत्ति की तो वो पुलिस से बचने के लिए अपनी बहन से जान बूझ कर छेड़खानी का आरोप लगवा रहा है।” फेसबुक से लेकर ट्वीटर तक लोग इस वीडियो की सच्चाई जाने बगैर शेयर कर रहे हैं। कुछ ने तो पुलिस से मारपीट कर रहे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की भी मांग की।

वायरल हो रहे इस वीडियो की जब पड़ताल की गई तो कुछ और ही सच्चाई सामने आयी। देहरादून के एसएसपी ने ट्वीट कर कहा, “सोशल मीडिया पर एक व्यक्ति जिसे नागा साधु बताते हुए कुछ लोगों द्वारा पीटने का एक वीडियो वायरल किया जा रहा है। उक्त संबंध में ज्ञात हो कि वह व्यक्ति एक बहुरूपिया है, जिसके विरुद्ध नशे की हालत में छेड़छाड़ की एक घटना में संलिप्त होने की शिकायत पर कानूनी कार्यवाही की गयी है।”

HOT DEALS
  • Gionee X1 16GB Gold
    ₹ 8990 MRP ₹ 10349 -13%
    ₹1349 Cashback
  • Honor 7X Blue 64GB memory
    ₹ 16010 MRP ₹ 16999 -6%
    ₹0 Cashback

एसएसपी ने वायरल वीडियो के साथ शेयर की जा रही बात को गलत बताते हुए कहा कि, “24 अगस्त 2018 को सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था, जिसमें एक साधू वेशधारी व्यक्ति कुछ लोगों द्वारा पिटते हुए दिख रहा है। इस वीडियो को लेकर कई लोगों द्वारा भ्रामक संदेश भी प्रचारित किए गए। जबकि वास्तविकता यह है कि वीडियो में साधु के रूप में जो व्यक्ति दिख रहा है, उसका नाम सुशील नाथ है। वह हरियाणा के यमुनानगर का निवासी है। वह एक सपेरा है। उसकी पत्नी और छह बच्चे भी हैं। वह नशे का आदी है और वेश बदलकर भीख मांगता रहता है। 24 अगस्त को वह पटेलनगर क्षेत्र के एक घर में घुस एक महिला के साथ आपत्तिजनक हरकत कर रहा था। इसके बाद युवती के भाई और स्थानीय लोगों ने मिलकर उसकी पिटाई कर दी। बाद में उसे पटेलनगर थाना के हवाले कर दिया गया। उसके खिलाफ आईपीसी की धारा 354 बी, 504, 452, 376 और 511 के तहत प्राथमिकी दर्ज की गई है।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App