ताज़ा खबर
 

चमत्कार या साइंस का कमाल? समुद्र के इस हिस्से में नहीं डूबते लोग, बेफिक्रे हो लगाते हैं गोते

इस डेड सी की खासियत है कि यहां नहाने के लिए तैराकी सीखना जरुरी नहीं है। जिसे तैराकी नहीं आती वो भी पानी में तैरने लगता है और तैरने के लिए ना कोई लाइफ जैकेट की जरुरत नहीं होती।
Dead Sea की तस्वीर।(फोटो सोर्स- इंस्टाग्राम)

आपको तैरना आता है तो ही आप नदी, तालाब और स्वीमिंग पूल का लुत्फ उठा सकते हैं। अगर आप तैराकी में चैंपियन हैं तो समुद्र की लहरों को भी चुनौती दे सकते हैं। लेकिन जिन्हें तैरना नहीं आता वो लोग इस चीज को बड़ी कमी मानते हैं। आज हम उन्हीं लोगों की परेशानी को दूर करने का एक तरीका बता रहे हैं जिन्हें तैरना नहीं आता। वो लोग भी समुद्र में नहाने का मजा लूट सकते हैं इसके लिए उन्हें तैराकी आती हो ऐसा जरुरी नहीं है। आइए बताते हैं कैसे बिना तैराकी के समुद्र में गोते लगा सकते हैं आप।

दुनियाभर में ऐसी बहुत सी जगह हैं जो अपनी खूबी की वजह से काफी मशहूर हो जाती हैं। ऐसी ही जगह ‘डेड सी’। इसे डेड सी इसलिए कहा जाता है क्योंकि इसके आस-पास भी सभी चीजें मृत हैं। यहां न तो कोई पेड़-पौधा है और न ही कोई घास। यहां तक कि इसमें कोई मछली भी नहीं है।

ये जगह जॉर्डन और इज़राइल के बीच में मौजदू है। ये मृत सागर 67 किलोमीटर लंबा और 18 किलोमीटर चौड़ा है। इसकी गहराई 377 मीटर (लगभग 1237 फुट) है। यह इस दुनिया की सबसे गहरी खारे पानी की झील है। इसकी सहायक नदी जॉर्डन रिवर है।

Read in the sea without having to worry about sinking? Don’t mind if I do! #deadsea #bucketlist #israel

A post shared by Alysia (@alysiagordon) on 

इस डेड सी की खासियत है कि यहां नहाने के लिए तैराकी सीखना जरुरी नहीं है। जिसे तैराकी नहीं आती वो भी पानी में तैरने लगता है और तैरने के लिए ना कोई लाइफ जैकेट की जरुरत नहीं होती।

A little fun in the Dead Sea. Until the mud dried and the water pipe to the showers broke. LOL

A post shared by Len (@lenweekley) on 

लोग अपने आप भी पानी की सतह पर तैरते नजर आते हैं, कोई नहीं डूबता। इसी वजह से ये डेड सी काफी मशहूर हो गया है।

Floating on the Dead Sea with my mates

A post shared by Graham Hill (@_grahamhill_) on 

आप सोच रहे होंगे कि क्या ये कोई चमत्कार है? आपकी जानकारी के लिए बता दें कि इसके पीछे कोई चमत्कार नहीं बल्कि साइंस है। दरअसल समय के साथ समुद्र की इस जगह में जरुरत से ज्यादा क्षार जमा हो गया है। क्षार एक ऐसा पदार्थ है, जिसको पानी में मिलाने से पानी का pHमान 7.0 से अधिक हो जाता है।


इस खारे पानी में खनिज तत्व जैसे की केल्शियम, मैग्नेशियम, पोटेशियम आदि लवण पाए जाते है। इसी वजह से यहां लोग पानी पर तैरने लगते हैं। इस जगह ज्यादा क्षार होने की वजह से कोई दरियाई पौधे, जिव या वनस्पति आदि नहीं रहता। यह मिनरल वाटर ह्यूमन बॉडी के लिए भी फायदेमंद मानी जाती है। यहां के लोगों का मानना है कि इस पानी में नहाने से चर्मरोग नहीं होता।

खैर, अब साइंस हो या कोई चमत्कार यहां पर आने वाले लोगों को सिर्फ समुद्र की लहरों पर गोते लगाने से मतलब है। सालो से ‘डेड सी’ एरिया एक लोकप्रिय पिकनिक स्पॉट बन गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.