ताज़ा खबर
 

कठुआ गैंगरेप: शिखर धवन ने ट्वीटर पर दिखाया आक्रोश, लिखा- इनको तड़पा-तड़पा कर मारो

शिखर धवन के अलावा क्रिकेटर गौतम गंभीर और बैडमिंटन स्टार सानिया मिर्जा भी इस घटना पर गुस्सा जाहिर कर चुकी हैं। बच्ची के लिए न्याय की मांग करते हुए सानिया मिर्जा ने लिखा था, "क्या हम ऐसा ही देश बनाना चाहते हैं? अगर हम इस 8 साल की बच्ची के लिए खड़ा नहीं होते तो हम दुनिया में किसी भी चीज के लिए कभी खड़े नहीं हो पाएंगे, यहां तक की मानवता के लिए भी नहीं।"

Author नई दिल्ली | April 19, 2018 3:21 PM
शिखर धवन (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

जम्मू एंड कश्मीर के कठुआ में 8 वर्षीय मासूम बच्ची के साथ गैंगरेप को लेकर भारतीय क्रिकेटर शिखर धवन ने अपने ट्विटर हैंडल के जरिए आक्रोश जाहिर किया है और कहा कि आरोपियों को तड़पा-तड़पा कर मारना चाहिए। इस घटना पर अपना गुस्सा जाहिर करते हुए शिखर धवन ने लिखा, “भगवान बच्ची की आत्मा को शांति दे। पता नहीं कैसे लोग ऐसी हरकत कर सकते हैं। दुनिया के आगे इन्हें तड़पा-तड़पा कर मारना चाहिए ताकि इन जैसे लोगों को पता चले कि क्या हालत होती है किसी के साथ ऐसा करने की।”

शिखर धवन के अलावा क्रिकेटर गौतम गंभीर और बैडमिंटन स्टार सानिया मिर्जा भी इस घटना पर गुस्सा जाहिर कर चुकी हैं। बच्ची के लिए न्याय की मांग करते हुए सानिया मिर्जा ने लिखा था, “क्या हम ऐसा ही देश बनाना चाहते हैं? अगर हम इस 8 साल की बच्ची के लिए खड़े नहीं होते तो हम दुनिया में किसी भी चीज के लिए कभी खड़े नहीं हो पाएंगे, यहां तक की मानवता के लिए भी नहीं।” वहीं गौतम गंभीर ने इस मामले में सिस्टम को चैलेंज करते हुए लिखा था, “शर्म आती है उन लोगों पर खासकर वकीलों पर जो कठुआ की हमारी पीड़ि‍त बेटी का बचाव करने वाली अधिवक्‍ता दीपिका सिंह राजावत को चुनौती दे रहे हैं और उनके काम में बाधा डाल रहे हैं। बेटी बचाओ से क्‍या अब हम बलात्‍कारी बचाओ हो गए हैं?”

 

मासूम बच्ची के साथ हुए इस जघन्य अपराध को लेकर भारतीय लोग ही नहीं बल्कि पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान के लोग भी आक्रोशित हैं। इस घटना पर पूर्व पाकिस्तानी क्रिकेटर शोएब अख्तर ने भी अपनी कठोर प्रतिक्रिया दी है। शोएब अख्तर ने लिखा, ”यह देखकर दुखी हूं, हमने पहले ही जैनब को खो दिया और अब उसे। हिन्दू, मुसलमान और किसी भी धर्म की हों, ये हमारी बच्चियां हैं जिन्हें हमारे शहरों और गांवों में बेआबरू किया जा रहा है। शायद हमें अपराधियों से कड़ाई से निपटना चाहिए और उनके खिलाफ कोई दया नहीं दिखानी चाहिए। बस उन्हें फांसी पर लटका दो।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App