ताज़ा खबर
 

कठुआ गैंगरेप: ‘आप’ की महिला विधायक ने केंद्र पर साधा निशाना, कहा- BJP और कितनी नंगी होगी ?

एक अन्य ट्वीट में अल्का लांबा ने लिखा है, '2014 में पीएम मोदी ने नारा था दिया था "बेटी बचाओ", 2019 आते आते जनता ने खुद इस नारे को बदला डाला और अपने घरों के दरवाजों पर लिख डाला "BJPनेताओं से बेटियां बचाओ"।'

आम आदमी पार्टी की विधायक अलका लांबा। (फाइल फोटो)

उन्नाव गैंगरेप केस में भारतीय जनता पार्टी (BJP) के विधायक का नाम आने और कठुआ गैंगरेप केस में पार्टी नेताओं का आरोपियों के बचाव में उतरने को लेकर केंद्र की भाजपा सरकार कांग्रेस सहित अधिकतर विपक्षी दलों के निशाने पर हैं। इसी कड़ी में आम आदमी पार्टी (AAP) नेता और चांदनी चौक से विधायक अल्का लांबा ने भाजपा पर जोरदार प्रहार किया है। आप विधायक ने ट्विटर पर एक पोस्ट के जरिए भाजपा को घेरने की कोशिश की है। उन्होंने ट्वीट कर लिखा है, ‘दिल्ली से BJP की सांसद मीनाक्षी लेखी का तो कहना था कि हमारे मंत्रियों को गुमराह किया गया, उनकी गलती नहीं थी, और यहां मंत्री पद गवाने वाला BJP के विधायकों का कहना है कि हमें तो BJP हाई-कमान ने ही कठुआ के बलात्कारियों के सर्मथन में खड़े होने को कहा था। अब BJP और कितनी नंगी होगी?’

एक अन्य ट्वीट में अल्का लांबा ने लिखा है, ‘2014 में पीएम मोदी ने नारा था दिया था “बेटी बचाओ”, 2019 आते आते जनता ने खुद इस नारे को बदला डाला और अपने घरों के दरवाजों पर लिख डाला “BJPनेताओं से बेटियां बचाओ”।’ ट्वीट में आगे लिखा गया कि भाजपा नेताओं पर लगाई बेटियों की गलियों में जाने रोक। मित्रों भाजपा के लिए यह गर्व की बात है या फिर शर्म से डूब मरने की?’

विधायक के इन ट्वीट्स पर अन्य यूजर्स ने भी प्रतिक्रियाएं दी है। एक ट्वीट में लिखा गया है, ‘अलका दीदी इनसे बड़ा जुमलेबाज मैंने नही देखा।’ रोहित शर्मा लिखते हैं, ‘संदीप कुमार को अपना आदर्श मानने वालो से साटिफिकेट नही चाहिए।’ प्रमोद लिखते हैं, ‘नंगेपन की बात आप के मुंह से सही नहीं लगती।’ प्रमोद त्रिपाठी लिखते हैं, ‘ठीक वैसे जैसे राशन कार्ड पर केजरीवाल समझौता करा रहे थे इसलिए इन बातों का कोई मतलब नही राह जाता।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App