ताज़ा खबर
 

बीजेपी को घेरते हुए आप नेता आशुतोष ने पूछा- कोई शर्त लगाएगा? होने लगे ट्रोल

कांग्रेस और जेडीएस ने साथ मिलकर राज्यपाल वाजुभाई वाला के सामने सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया है तो वहीं बीजेपी की ओर से भी दावा पेश किया जा चुका है, लेकिन अभी तक राज्यपाल ने किसी को भी नहीं बुलाया है।

आप नेता आशुतोष (फोटो सोर्स- एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

कर्नाटक विधानसभा चुनाव में किसी भी पार्टी को बहुमत नहीं मिला है, जिसके कारण अभी तक सरकार बनाने को लेकर सस्पेंस बना हुआ है। बीजेपी को जहां 104 सीटें मिली हैं तो वहीं कांग्रेस को 78 और जेडीएस को 37 सीटें मिली हैं। कांग्रेस और जेडीएस ने साथ मिलकर राज्यपाल वाजुभाई वाला के सामने सरकार बनाने का दावा पेश कर दिया है तो वहीं बीजेपी की ओर से भी दावा पेश किया जा चुका है, लेकिन अभी तक राज्यपाल ने किसी को भी नहीं बुलाया है।

इसी सस्पेंस के बीच आम आदमी पार्टी के नेता आशुतोष ने बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा है कि अब पार्टी कांग्रेस और जेडीएस को तोड़ने की कोशिश करेगी। उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘कोई शर्त लागायेगा। बीजेपी कांग्रेस और जेडीएस दोनों को तोड़ने की कोशिश करेगी। आयकर के छापे पड़ेंगे। FIR दर्ज की जाएगी। कुछ विपक्षी नेता जेल जायेंगे।’ आशुतोष के इसी ट्वीट पर ट्वीटर यूजर्स के एक धड़े ने उन्हें ट्रोल करना शुरू कर दिया।

एक यूजर ने ट्वीट कर कहा, ‘कोई शर्त लगाएगा? आप कैंडिडेट्स की जमानत जब्त हो गई होगी?’ एक ने कहा, ‘अमित शाह के जादू के सामने तो केजरीवाल खुद बिक जाएं, आप MLAs की बात कर रही है।’ एक यूजर ने कहा, ‘भईया सिद्धारमैया, विधायकों को चाहे अब ताले में बन्द कर लो, पर सरकार तो मोटा भाई ही बनाएंगे।’ अन्य व्यक्ति ने लिखा, ‘अरविंद केजरीवाल से कह कर कर्नाटक में सरकार क्यो नही बना लेते?’

बता दें कि जेडीएस नेता कुमारस्वामी ने बीजेपी के ऊपर विधायकों को 100 करोड़ रुपए की पेशकश देकर खरीदने की कोशिश करने का आरोप लगाया है। कुमारस्वामी ने बुधवार को कहा कि बीजेपी कर्नाटक में सरकार बनाने को बेकरार है, इसलिए जेडीएस के नव निर्वाचित विधायकों को 100 करोड़ रुपये और कैबिनेट पद देने की पेशकश की है। जेडीएस के विधायकों की एक बैठक के बाद पूर्व मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने एक प्रेस कांफ्रेंस में आरोप लगाया, “हमारे विधायकों को समर्थन के बदले भाजपा द्वारा 100 करोड़ रुपये और मंत्रिमंडल में पद देने की पेशकश की गई है। अब आयकर अधिकारी कहां हैं?” हालांकि बीजेपी की तरफ से इन आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App