ताज़ा खबर
 

कर्नाटक राज्यपाल का बीजेपी कनेक्शन बताने पर हो रहे थे ट्रोल, एक्टर उदय चोपड़ा ने यूं कराया चुप

उदय चोपड़ा ने कर्नाटक विधानसभा चुनाव के परिणामों के बाद बीजेपी पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया था। चोपड़ा ने बताया कि उन्होंने राज्यपाल के बारे में गूगल किया, जिससे उन्हें पता चला कि वह बीजेपी और आरएसएस से जुड़े हुए हैं।

बॉलीवुड एक्टर उदय चोपड़ा (फोटो सोर्स – एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

कर्नाटक के राज्यपाल वजुभाई वाला और बीजेपी के बीच कनेक्शन बताने को लेकर ट्रोल हो रहे बॉलीवुड एक्टर उदय चोपड़ा ने अब ट्रोलर्स को करारा जवाब दिया है। चोपड़ा द्वारा किए गए एक ट्वीट को लेकर सोशल मीडिया यूजर्स के एक धड़े ने उन्हें ट्रोल करना शुरू कर दिया था। बहुत से लोगों ने उनकी बेवकूफ और लूजर तक कहा था। एक यूजर ने लूजर वाले ट्वीट पर उदय चोपड़ा ने जवाब देते हुए कहा कि लोकतंत्र में एक लूजर को भी अपने विचार रखने का अधिकार होता है।

जब एक यूजर ने उदय चोपड़ा पर निशाना साधते हुए कहा कि एक लूजर को उस वक्त अपना मुंह बंद रखना चाहिए जब उसके बाद अपने बाप के पैसे के अलावा किसी भी और चीज की जानकारी न हो। इस ट्वीट पर चोपड़ा ने कहा, ‘ऐसा नहीं है, लोकतंत्र में एक लूजर को भी ओपिनियन रखने का अधिकार होता है।’ इसके अलावा लगातार हो रही आलोचनाओं पर उन्होंने एक अन्य ट्वीट कर कहा, ‘हा! मेरी टाइमलाइन में अचानक से बहुत से ट्रोल्स आ गए। मैं इससे सहमत हूं कि मैं परिणाम बताने वाला कोई नहीं होता, लेकिन मैं फिर भी भारत का नागरिक हूं और मुझे अपने देश की फिक्र है।’

क्या है मामला?
दरअसल, चोपड़ा ने कर्नाटक विधानसभा चुनाव के परिणामों के बाद बीजेपी पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया था। चोपड़ा ने बताया कि उन्होंने राज्यपाल के बारे में गूगल किया, जिससे उन्हें पता चला कि वह बीजेपी और आरएसएस से जुड़े हुए हैं। उन्होंने लिखा था, ‘मैंने अभी तुरंत गूगल पर सर्च किया और पाया कि कर्नाटक के गवर्नर बीजेपी से हैं और आरएसएस से भी संबंध रखते हैं, ऐसे में अब हम सब यह बात जानते हैं कि राज्य में क्या होने वाला है।’ इसी के साथ उन्होंने राज्यपाल के विकिपीडिया पेज का लिंक भी शेयर किया था। चोपड़ा के इसी ट्वीट को लेकर यूजर्स के एक धड़े ने उन्हें जमकर ट्रोल किया था। बहुत से लोगों ने उनकी तुलना कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी से भी की थी और उन्हें बॉलीवुड का राहुल गांधी कहा था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App