scorecardresearch

सौ सुनार की एक लोहार की; सपा में शामिल हुए कपिल सिब्बल तो जितिन प्रसाद ने पुराना ट्वीट दिखा ऐसे कसा तंज, लोग भी करने लगे खिंचाई

वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने कांग्रेस का साथ छोड़, समाजवादी पार्टी का दामन थाम लिया है।

Kapil Sibal quits Congress | Kapil Sibal Rajya Sabha
पेशेवर वकील और राजनीतिज्ञ कपिल सिब्बल। (Express Photo by Renuka Puri)

हाल ही कांग्रेस के चिंतन शिविर में भविष्य में मजबूती के साथ आगे बढ़ने का फैसला हुआ था लेकिन इसके कुछ दिन बाद ही कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने इस्तीफा दे दिया। सपा के समर्थन से कपिल सिब्बल ने राज्यसभा के लिए नामांकन भी दाखिल कर दिया है। कपिल सिब्बल के कांग्रेस छोड़ने पर पूर्व कांग्रेस नेता जितिन प्रसाद ने तंज कसा है।

दरअसल जब जितिन प्रसाद ने कांग्रेस का दामन छोड़कर बीजेपी का हाथ पकड़ा था, तब कपिल सिब्बल ने लिखा था कि “जितिन प्रसाद, बीजेपी में शामिल। क्या जितिन प्रसाद को बीजेपी से “प्रसाद” मिलेगा या उन्हें सिर्फ चुनाव के लिए ही पकड़ा गया है। इस तरह के सौदों में अगर ‘विचारधारा’ मायने नहीं रखती है तो बदलाव होने की संभावना अधिक रहती है।”

जितिन प्रसाद ने अब इस पर पलटवार किया है। जितिन प्रसाद ने लिखा कि “प्रसाद” कैसा है मिस्टर सिब्बल।’ जितिन प्रसाद के इस ट्वीट पर लोग अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। सुनील शर्मा नाम के यूजर ने लिखा कि ‘ये ट्विटर है, यहां सब याद रखा जाता है।’ कृष्णा नाम के यूजर ने लिखा कि ‘सौ सुनार की और एक लोहार की।’

एक यूजर ने लिखा कि ‘जितिन जी जवाब ऐसे ही दिया जाना चाहिए और हां जवाब थोड़ा और कड़क होना था फिर भी जवाब शानदार है।’ आदित्य शुक्ला नाम के यूजर ने लिखा कि ‘कपिल सिब्बल अब ‘हाथ’ छोड़कर ‘साइकिल’ चलाएंगे।’ उपेन्द्र सिंह नाम के यूजर ने लिखा कि ‘ये ट्विटर बड़े काम की चीज है, वक्त आने पर किसी को भी सूद समेत लौटा सकते हैं।’

विद्याधर द्विवेदी ने लिखा कि ‘सिब्बल साहब ने सिम्बल ही बदल लिया ,अब जाकर पता चला कि ‘हाथ’ कमजोर हो गया है लेकिन साइकिल भी तो पंचर ही है।’ अनिल नंदवाना ने लिखा कि ‘इनको तो हलवा मिल गया, डूबते जहाज से कूद कर जो भाग आए।’ संजय चौहान ने लिखा कि ‘जिनके अपने घर शीशे के होते हैं,वो दूसरों के घरों पर पत्थर नहीं मारा करते।’

बता दें कि समाजवादी के समर्थन से राज्यसभा के लिए नामांकन भरने के बाद मीडिया से बात करते हुए कपिल सिब्बल ने कहा कि ‘मैं कांग्रेस का नेता था, लेकिन अब नहीं हूं। कांग्रेस की सदस्यता से 16 तारीख को इस्तीफा दे चुका हूं। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव का आभार व्यक्त करता हूं। अब हम साथ में 2024 की तैयारी कर रहे हैं।’

पढें ट्रेंडिंग (Trending News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट