Journalist Rana Ayyub attacks on PM Modi and BJP MP Vinay Katiyar over Prime minister speech in parliament - राणा अय्यूब ने विनय कटियार और नरेंद्र मोदी पर मारे ताने, लोगों ने किया ट्रोल - Jansatta
ताज़ा खबर
 

राणा अय्यूब ने विनय कटियार और नरेंद्र मोदी पर मारे ताने, लोगों ने किया ट्रोल

राणा अयूब ने बताया कि पिछले साल पीएम ने अपना पक्ष रखने के लिए निदा फाजली का शेर पढ़ा था और अब बशीर बद्र का पढ़ा। ट्वीट में अगला वाक्‍य था- सर, देख लीजिए विनय कटियार नाराज हो जाएंगे।

पत्रकार राणा अय्यूब, पीएम नरेंद्र मोदी और विनय कटियार (फाइल/PTI/एक्सप्रेस फोटो)

पत्रकार राणा अय्यूब ने एक ट्वीट के जरिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विनय कटियार पर तंज कसा तो लोगों ने उन्‍हें ट्रोल कर दिया। प्रधानमंत्री ने 7 फरवरी को सदन में बोलते हुए बशीर बद्र का एक शेर पढ़ कर कांग्रेस पर निशाना साधा था। इस संदर्भ में राणा अय्यूब ने ट्वीट किया। उन्‍होंने बताया कि पिछले साल पीएम ने अपना पक्ष रखने के लिए निदा फाजली का शेर पढ़ा था और अब बशीर बद्र का पढ़ा। ट्वीट में अगला वाक्‍य था- सर, देख लीजिए विनय कटियार नाराज हो जाएंगे। बता दें कि कटियार का ताजा बयान आया है कि मुसलमानों के लिए अलग भूखंड बन गया है, तो वे हिंदुस्‍तान में हैं ही क्‍यों, उन्‍हें पाकिस्‍तान या बांग्‍लादेश चले जाना चाहिए।

राणा अयूब के इस ट्वीट पर सोशल मीडिया यूजर्स के एक धड़े ने उन्हें ही ट्रोल करना शुरू कर दिया। एक यूजने कहा कि राणा की सारी बातें तो ठीक हैं, लेकिन उन्हें पीएम मोदी की स्पीच कैसी लगी ये भी वह बताएं। वहीं एक यूजर ने लिखा, ‘विनय कटारिया तो कुछ नहीं हैं मोदी के आगे, आप देख लीजिएगा कहीं 2019 में आप नाराज ना हो जाओ इंडिया से।’ एक अन्य यूजर ने लिखा, ‘आपकी रणनीति ही गलत है। आपको तारीफ करनी चाहिए कि पीएम मोदी ने एक मुस्लिम कवि का नाम लिया। उन्हें बताइए कि ये भारत है। इसका मजाक मत बनाइए।’ एक अन्य यूजर ने लिखा कि कवि और संगीत का कोई धर्म नहीं होता।

वहीं एक यूजर ने लिखा, ‘कटियार की छोड़ो, आप खुश हो ना? मोदी मुस्लिम शायरी का सहारा ले रहे है, इससे ज्यादा अच्छे दिन क्या होंगे?’ एक अन्य ने लिखा, ‘तुम जैसों को देखते हुए विनय कटियार का बयान सटीक है।’ आपको बता दें कि लोकसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने मोदी सरकार पर बशीर बद्र की शायरी से हमला बोलते हुए कहा था, ‘दुश्मनी जम कर करो, लेकिन यह गुंजाइश रहे, जब कभी हम दोस्त हो जाएं, तो शर्मिंदा न हों।’ पीएम मोदी ने भी खड़गे को बद्र की शायरी से ही बुधवार को जवाब दिया। उन्होंने कहा, ‘जी बहुत चाहता है सच बोलें, क्या करें हौसला नहीं होता।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App