ताज़ा खबर
 

पत्रकार ने कहा- भक्तों, मुझे गाली मत दो, पीएम नरेंद्र मोदी से ज्यादा भरोसा एनडीटीवी और प्रणय रॉय पर है

मराठी पत्रकार निखिल वागले पिछले हफ्ते तब चर्चा में आए थे जब एक निजी चैनल पर आने वाला उनका टीवी कार्यक्रम बंद करवा दिया गया।

एनडीटीवी के सह-संस्थापक प्रणय रॉय के खिलाफ सीबीआई और इनकम टैक्स की जांच चल रही है।

जब कुछ ट्विटर ट्रॉल पत्रकार एनडीटीवी की खबरें शेयर करने के लिए पत्रकार निखिल वागले  के संग गालीगलौज करने लगे तो उन्होंने जवाब में कह दिया कि उन्हें एनडीटीवी और प्रणय रॉय पर नरेंद्र मोदी से ज्यादा भरोसा है। निखिल वागले ने रविवार (23 जुलाई) को ट्वीट किया, “प्रिय भक्तों, एनडीटीवी के समाचार शेयर करने के लिए मुझे गाली देने का कोई फायदा नहीं। मुझे प्रणय रॉय और एनडीटीवी पर नरेंद्र मोदी से ज्यादा भरोसा है।” मराठी पत्रकार निखिल वागले पिछले हफ्ते तब चर्चा में आए थे जब एक निजी चैनल पर आने वाला उनका टीवी कार्यक्रम बंद करवा दिया गया। वागले ने आरोप लगाया कि उनका कार्यक्रम राजनीतिक दबाव की वजह से बंद कराया गया। वागले का कार्यक्रम बंद करवाए जाने पर कई पत्रकारों ने टिप्पणी की थी जिनमें एनडीटीवी खबर के एंकर रवीश कुमार भी शामिल थे।

रवीश कुमार ने गुरुवार (20 जुलाई) को लिखा था, “निखिल वागले का टीवी शो अचानक बंद कर दिया गया है। आपके बोलने के लिए सूचना नहीं दे रहा हूँ । मुझे पता है आपका गला दुखता है। बाकी चुप रहना ही ठीक है। चुप्पी को राष्ट्रीय मुद्रा घोषित कर देना चाहिए। किसी भी राजनीति और सरकार का मूल्याकंन इस बात से भी किया जाना चाहिए कि उसके दौर में मीडिया स्वतंत्र है या नहीं । अगर आप बोल नहीं सकते तो कम से कम गुनगुना तो सकते ही हैं। गोदी में खेलती हैं, इसकी हज़ारों मीडिया।”

वागले का ताजा ट्वीट नरेंद्र मोदी के समर्थकों को रास नहीं आया। उन्होंने वागले को अपशब्द कहने के अलावा एनडीटीवी के खिलाफ सीबीआई और इनकम टैक्स की जांच का हवाला देते हुए वागले पर आरोप लगाए। दिव्या नायर नामक यूजर ने वागले के ट्वीट पर कमेंट किया कि “ठीक है सर, देश को नरेंद्र मोदी पर आपसे और एनडीटीवी से ज्यादा भरोसा है इसलिए आपकी सोच से कोई फर्क नहीं पड़ता।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App