ताज़ा खबर
 

संविधान जलाने वाले देशद्रोही क्यों नहीं हुए अरेस्ट? जावेद अख्तर को इस सवाल पर ट्रोल करने लगे लोग

जावेद अख्तर सोशल मीडिया पर अपनी बातें खुलकर रखने के लिए जाने जाते हैं। पहले भी कई बार ऐसा हुआ है जब किसी मुद्दे पर अपनी राय की वजह से वो ट्रोलर्स के निशाने पर आए हों।

गीतकार जावेद अख्तर।

मशहूर शायर, लेखक और गीतकार जावेद अख्तर एक बार फिर सोशल मीडिया पर ट्रोल हो गए हैं। इस बार जावेद अख्तर ने एक ट्वीट करते हुए सवाल उठाया कि ‘क्या कोई मुझे यह बतलाएगा कि जिन देशद्रोहियों ने दिल्ली के जंतर-मंतर पर संविधान की किताब सरेआम जलाई उनकी गिरफ्तारी अभी तक क्यों नहीं हुई?’ जावेद अख्तर के इस ट्वीट को पुणे पुलिस की उस कार्रवाई से जोड़ कर देखा जा रहा है जिसके तहत पुलिस ने हाल ही में भीमा कोरेगांव हिंसा मामले में संलिप्ता और नक्सलियों से सांठगांठ के शक में 5 वामपंथी विचारकों समेत कुछ लोगों को हाल ही में गिरफ्तार किया है।

जिन पांच लोगों को पुणे पुलिस ने गिरफ्तार किया है उनमें सुधा भारद्वाज, अरुण परेरा, वरवर राव, गौतम नौलखा, वेर्नोन गोंजाल्वेज शामिल हैं। यहां यह भी बता दें कि पुणे के निकट कोरेगांव-भीमा गांव में पिछले साल 31 दिसंबर को आयोजित एलगार परिषद के बाद दलितों और सर्वण जाति के पेशवाओं के बीच हिंसक संघर्ष हुआ था। बहरहाल अब अपने इस ट्वीट के बाद जावेद अख्तर सोशल मीडिया पर जबरदस्त तरीके से ट्रोल होने लगे हैं।

जावेद अख्तर सोशल मीडिया पर अपनी बातें खुलकर रखने के लिए जाने जाते हैं। पहले भी कई बार ऐसा हुआ है जब किसी मुद्दे पर अपनी राय की वजह से वो ट्रोलर्स के निशाने पर आए हों। इससे पहले जावेद अख्तर ने संसद में जनप्रतिनिधियों द्वारा बोली जाने वाली कविताओं को लेकर ट्वीट किया था। जावेद अख्तर ने अपने ट्वीट में कहा था कि ‘मैं हाथ जोड़ कर लोकसभा में सभी पार्टियों के सांसदों से अनुरोध करता हूं कि गम से कम कविता पर कुछ दया दिखाएं।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App