ताज़ा खबर
 

300 किलो जहर, गोंद लगी 40 हजार चादरें, ये देश कर रहा है हजारों चूहों को मार गिराने की तैयारी

57 एकड़ में फैली सुकिजी फिश मार्केट कई हजार चूहों का घर है, जो कि मछली के टुकड़ों और मार्केट के सीवर के कारण यहां इतनी बड़ी संख्या में इकट्ठा हो गए हैं।

जापान की प्रसिद्ध सुकिजी फिश मार्केट का एक दृश्य। (image source-Facebook/Linda McCoy Koroma)

जापान में बड़े स्तर पर चूहों को मारने की योजना बनायी जा रही है। इसके लिए जापान सरकार ने 300 किलो जहर और गोंद लगी 40 हजार चादरों का इंतजाम किया है, जिनकी मदद से चूहों को पकड़ा और मारा जाएगा। चूहों को मारने या पकड़ने की यह पूरी कवायद जापान की राजधानी टोक्यो की प्रसिद्ध सीफूड मार्केट सुकिजी फिश मार्केट (Tsukiji Fish Market) के नई जगह शिफ्ट होने के दौरान शुरु की जाएगी। 57 एकड़ में फैली सुकिजी फिश मार्केट कई हजार चूहों का घर है, जो कि मछली के टुकड़ों और मार्केट के सीवर के कारण यहां इतनी बड़ी संख्या में इकट्ठा हो गए हैं। बता दें कि जापान की 83 साल पुरानी सुकिजी फिश मार्केट को 2.3 किलोमीटर दूर तोयोसु में शिफ्ट किया जा रहा है। सुकिजी फिश मार्केट दूनिया की सबसे बड़ी फिश मार्केट होने के साथ ही जापान का सबसे मशहूर टूरिस्ट स्पॉट भी है। यहां टूना मछली के ऑक्शन की प्रक्रिया विश्व प्रसिद्ध है।

सुकिजी फिश मार्केट की 900 दुकानें 480 तरह के सीफूड आइटम और 270 तरह के फल और सब्जियां बेचकर रोजाना 14 मिलियन यूएस डॉलर का व्यापार करती हैं। ऐसे में इतने बड़े बाजार को शिफ्ट करना काफी मुश्किल भरा हो सकता है। बाजार को शिफ्ट करने के लिए हजारों ट्रकों को लगाया गया है। बाजार को शिफ्ट करने के दौरान यहां मौजूद चूहें जमीन से बाहर आ सकते हैं। ऐसे में उन्हें नियंत्रित करना प्रशासन के लिए काफी मुश्किल होगा। यही वजह है कि प्रशासन ने इतने बड़े स्तर पर चूहों को मारने और पकड़ने का इतंजाम किया है। इस काम में विशेषज्ञों के नेतृत्व में बड़ी संख्या में लोगों को लगाया गया है। चूहों को मारने की इस योजना में सुकिजी फिश मार्केट के आस-पास स्थित कई रेस्टोरेंट आदि को भी सतर्क कर दिया गया है, क्योंकि चूहें सुकिजी मार्केट से निकलने के साथ ही आस-पास के घरों और रेस्टोरेंट में घुस सकते हैं।

बचाव के चलते कई रेस्टोरेंट मालिकों ने तो बिल्लियां पालनी शुरु कर दी हैं। सुकिजी फिश मार्केट में सीफूड होलसेल एसोसिएशन के चेयरमैन हिरोयासु इटो का कहना है कि यहां हमें कई दिक्कतों का सामना करना पड़ता है, जिनमें पक्षियों का यहां मंडराना और चूहों का मौजूद होना प्रमुख है। लेकिन उन्होंने इस बात पर भी खुशी जतायी कि इतनी मुश्किलों के बावजूद इतने सालों में उन्होंने सुकिजी फिश मार्किट में साफ-सफाई के काफी ख्याल रखा है। मार्केट में सफाई के लिए बेहतरीन उपाय किए गए हैं, जिनमें स्पेशल इंस्पेक्टर की तैनाती भी शामिल है, जो कि हर दिन यहां के खाने की शुद्धता जांचते हैं। इस मार्केट के खाने से हमने शायद ही कभी फूड पॉइजनिंग की बात सुनी हो। अब नई तोयोसु मार्केट में भी साफ-सफाई का काफी ख्याल रखा गया है। तोयोसु मार्केट में खिड़की दरवाजे सेंसर कंट्रोल लगाए गए हैं। इसके साथ ही यहां एअर कर्टेंस भी लगाए गए हैं, जिनसे यहां की ठंडी हवा बाहर नहीं जा पाएगी। इसके साथ ही चूहों, कीड़े-मकोड़ों और धूल से भी बचाव के तरीके अपनाए गए हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बीजेपी सांसद बोले- मंदिरों में पड़ी संपत्ति किस काम की? बेच दी जाए, लोगों ने जमकर भेजी लानत
2 चौधरी की चाय अभी भी मिलती है क्या? आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं से बात कर पीएम मोदी को याद आए पुराने दिन
3 डिबेट: JDS प्रवक्ता भड़के- PM को नहीं जाने देंगे झोला लेकर, इस झोले में चौकसी, नीरव मोदी और माल्या है