ताज़ा खबर
 

IPL Auction 2018: किंग्‍स इलवेन पंजाब में युवराज सिंह की वापसी, मालकिन प्रीति जिंदा ने किया ऐसा ट्वीट कि फैंस बोले- कप्‍तान बना दो

IPL Player Auction 2018, IPL Niliami 2018: एक ने लिखा "आपने युवराज को बेस प्राइस पर खरीदा है। आप बहुत खुशनसीब हो, युवराज सिंह एक सच्चे आदर्श हैं। महान को किंग्स इलेवन पंजाब की कप्तानी देकर सम्मान दो।"

Author नई दिल्ली | January 27, 2018 2:26 PM
दिग्गज खिलाड़ी युवराज सिंह पिछले सीजन में सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेले थे। (Photo Source: Twitter)

इंडियन प्रीमियर लीग 11 के लिए शुक्रवार को खिलाड़ियों की बोली लगाई गई। दिग्गज खिलाड़ी युवराज सिंह पिछले सीजन में सनराइजर्स हैदराबाद के लिए खेले थे, लेकिन सबसे पहला सीजन उन्होंने किंग्स इलेवन पंजाब की तरफ से खेला था। इस साल नीलामी में युवराज का बेस प्राइस दो करोड़ रुपए रखा गय था। युवराज की पूर्व टीम सनराइजर्स हैदराबाद ने उनके लिए राइट टू मैच का इस्तेमाल नहीं किया और किंग्स इलेवन पंजाब ने दो करोड़ की बोली लगाकर उन्हें अपनी टीम के लिए खरीद लिया।

युवराज को अपनी फ्रेंचाइजी में शामिल कर इसकी मालकिन और फिल्म अदाकारा प्रीति जिंटा काफी खुश हैं। अपनी इस खुशी को प्रीति जिंटा ने ट्विटर पर शेयर किया। प्रीति ने अपने ट्विटर हैंडल पर अपनी और युवराज की फोटो शेयर करते हुए ट्वीट किया “येस, घर में युवराज की वापसी और मैं खुश नहीं हो सकती।” युवराज फिर से किंग्स इलेवन पंजाब का हिस्सा बन चुके हैं, जिससे उनके फैन्स काफी खुशी हैं। फैन्स को इतनी खुशी है कि उन्होंने प्रीति से युवराज को फिर से टीम का कप्तान बनाने की सिफारिश कर डाली।

प्रीति के ट्वीट पर कई यूजर्स अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। एक यूजर ने लिखा “कप्तान आया रे।” एक ने लिखा “शेर अपनी गुफा में, बधाई हो किंग्स इलेवन पंजाब।” एक ने लिखा “युवराज को कैप्टनशिप भी दो।” एक ने लिखा “युवराज सिंह को पंजाब का कप्तान बनाओ।” एक ने लिखा “आपने युवराज को बेस प्राइस पर खरीदा है। आप बहुत खुशनसीब हो, युवराज सिंह एक सच्चे आदर्श हैं। महान को किंग्स इलेवन पंजाब की कप्तानी देकर सम्मान दो।” आपको बता दें कि युवराज के अलावा किंग्स इलेवन पंजाब ने अपने खेमे में भारतीय गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन को भी शामिल किया है। किंग्स इलेवन पंजाब ने आर. अश्विन को 7.6 करोड़ रुपए में खरीदा। आर. अश्विन इससे पहले चेन्नई सुपरकिंग्स की तरफ से खेले थे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App