scorecardresearch

आपके पिताजी के राज में अपराधियों के खिलाफ नहीं दर्ज होती थी एफआईआर? सपा नेता के सवाल पर अदिति सिंह ने कुछ यूं दिया था जवाब

अदिति सिंह पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ी थीं, और जीत हासिल करके पहली बार विधानसभा पहुंचीं थीं।

Aditi Singh MLA, Aditi Singh BJP
आपके पिताजी के राज में अपराधियों के खिलाफ नहीं दर्ज होती थी एफआईआर? सपा नेता के सवाल पर अदिति सिंह ने कुछ यूं दिया था जवाब (फोटो सोर्स – सोशल मीडिया)

कांग्रेस छोड़ बीजेपी में शामिल हुई रायबरेली सदर से विधायक अदिति सिंह इन दिनों सुर्खियों में हैं। पिछले 2 सालों से अदिति कांग्रेस के खिलाफ मुखर होकर बोलती नजर आ रही थी। तभी से यह कयास लगाए जा रहे थे कि अदिति जल्द ही कांग्रेस को अलविदा कहकर किसी और पार्टी का दामन थाम लेंगी। अदिति अपने टीवी इंटरव्यू के दौरान बेबाकी से से हर सवाल का जवाब देती नजर आती हैं।

एबीपी न्यूज़ के एक इंटरव्यू के दौरान अदिति ने योगी आदित्यनाथ सरकार की तारीफ में कहा था कि इस सरकार के आने के बाद से थानों में एफआईआर रजिस्टर्ड की जाने लगी। उनकी इस बात पर इस कार्यक्रम में मौजूद समाजवादी पार्टी की प्रवक्ता जूही सिंह ने सवाल पूछा था – क्या आपके पिताजी के राज में अपराधियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज नहीं की जाती थी?

इस सवाल पर अदिति ने कहा था – आप राष्ट्रीय प्रवक्ता हैं, मैं केवल अपने क्षेत्र तक बात सीमित रखूंगी। मैं उस जगह से विधायक हूं जहां से सोनिया गांधी पिछले पांच बार से सांसद बन रही हैं। वो रायबरेली कितना आती हैं? उनकी बात छोड़िए उनके प्रतिनिधि तक वहां नहीं आते हैं। जब वह जनता की समस्याएं और परेशानियां सुनने नहीं आती है तो कौन एफआईआर लिखवाएगा।

आपके पिताजी कांग्रेस परिवार में थे और आप अचानक उनके निधन के बाद से कांग्रेस से मुंह क्यों मोड़ ले रही हैं? इस पर अदिति ने कहा था – आपको अपना होमवर्क करके आना चाहिए था। मेरे पिताजी ने 3 चुनाव कांग्रेस से लड़ा था बाकी वह निर्दलीय चुनाव लड़ते थे। अदिति ने सोनिया पर निशाना साधते हुए कहा था कि हमने जिस प्रतिनिधि को दिल्ली चुनकर भेजा उनकी क्या इतनी भी जिम्मेदारी नहीं है कि वह अपनी जनता को आकर देखें।

गौरतलब है कि अदिति ने कांग्रेस छोड़ने के बाद सोनिया गांधी के नेतृत्व पर सवाल उठाते हुए कहा था कि कांग्रेस में केवल एक परिवार ही नेतृत्व कर रहा है। बता दें कि अदिति सिंह पिछले विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ी थीं, और जीत हासिल करके पहली बार विधानसभा पहुंचीं थीं।

पढें ट्रेंडिंग (Trending News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट