राकेश टिकैत से पूछा – यूपी में कैसा क्लाइमेट चल रहा है? BKU नेता बोले – हम कोई सरकार के एडवाइजर हैं क्या

राकेश टिकैत ने कहा कि चुनाव केवल एक बीमारी है। हमने उससे पैर खींच लिया है। उसमें हमारे हाथ जल गए। हमें जनता ने कहा कि चुनाव मत लड़ो आंदोलन करो। हम वही कर रहे हैं।

Rakesh tikait Photo, BKU Photo
किसान नेता राकेश टिकैत (फाइल फोटो- PTI)

भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत किसानों के मुद्दे पर बात करने न्यूज़ 18 इंडिया के कार्यक्रम ‘चौपाल’ में पहुंचे थे। इस दौरान उन्होंने किसान के विषयों के साथ उत्तर प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव को लेकर भी बात की। टिकैत ने कहा कि उत्तर प्रदेश में क्या होगा यह आने वाले समय में जनता बता देगी।

एंकर ने उनसे पूछा कि किसानों को मिट्टी की बहुत अच्छी समझ होती है। वह देख कर बता देते हैं कि इसमें कौनसी फसल लगाई जानी चाहिए। इस पर राकेश टिकैत ने कहा कि क्लाइमेट के हिसाब से समझा जाता है कि किस प्रकार की फसल लगाई जाए। जिसके बाद एंकर ने उनसे पूछा कि यूपी में इस बार क्या क्लाइमेट चल रहा है?

इसके जवाब में टिकैत कहते हैं, ” आप तो पॉलिटिकल भाषा का इस्तेमाल कर रहे हैं। आप जो पूछना चाहते हो वह हमें पता है इसलिए मैं कह रहा हूं कि जो कुछ भी पूछना है वह खुलकर पूछिए। क्यों धोखे में रख रहे हैं।” इस जवाब पर एंकर ने हंसते हुए कहा कि हमें लगा जनता बहुत भोली है। आप यह बताइए कि यूपी में क्या चल रहा है।

टिकैत ने जवाब दिया – यूपी में सब ठीक चल रहा है। एंकर ने टिकैत से अपना सवाल दोहराते हुए कहा कि यह कोई एडवर्टाइज नहीं चल रहा है जिसमें आप कह रहे हैं कि सब कुछ ठीक है। आप यह बताइए कि यूपी में किसकी सरकार बन रही है? टिकैत ने जवाब दिया कि हम सरकारों के एडवाइजर है क्या जो बता देंगे कि किसकी सरकार बन रही है। हमें क्या पता किसकी सरकार बन रही है।

टिकैत ने आगे कहा कि यह सब जनता बता देगी। जब उनसे पूछा गया कि यूपी का चुनाव किस ओर जा रहा हैं। क्या आप चुनाव लड़ेंगे? राकेश टिकैत ने बताया, ” चुनाव केवल एक बीमारी है। हमने उससे पैर खींच लिया है। उसमें हमारे हाथ जल गए। हमें जनता ने कहा कि चुनाव मत लड़ो आंदोलन करो। हम वही कर रहे हैं। सवालों के जवाब की तैयारी पहले से करके आते हैं? इसके जवाब में टिकैत ने कहा कि हमें चुनाव लड़ना ही नहीं है।

पढें ट्रेंडिंग समाचार (Trending News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट