scorecardresearch

घायल बच्चे का दर्द देख आंसू नहीं रोक पाईं IAS, वीडियो देख लोग कर रहे तारीफ

रोशन जैकब के वायरल वीडियो पर सोशल मीडिया यूजर्स का कहना है कि हर अफसर के अंदर इस तरह की भावना होनी चाहिए।

घायल बच्चे का दर्द देख आंसू नहीं रोक पाईं IAS, वीडियो देख लोग कर रहे तारीफ
यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है (फोटो सोर्स – सोशल मीडिया/ स्क्रीनग्रैब)

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर जिले में बस और ट्रक की टक्कर में हुए एक्सीडेंट में घायलों से मिलने पहुंची लखनऊ मंडल के कमिश्नर आईएएस रोशन जैकब का एक वीडियो सोशल मीडिया पर सामने आया है। इस वीडियो में देखा जा सकता है कि आईएएस रोशन जैकब एक बच्चे की हालत देखकर खुद भी रोने लगती हैं। इस वायरल वीडियो पर लोग रोशन जैकब की तारीफ करते हुए कई तरह के कमेंट कर रहे हैं।

रो पड़ीं आईएएस अफसर

घायलों का हालचाल लेने अस्पताल पहुंचीं रोशन जैकब ने एक बच्चे को लेकर बैठी रोती मां को देखा। जिसके बाद वह मां से बच्चे की हालचाल लेने लगी तो उन्होंने बताया कि घर की दीवार बारिश के दौरान की गई थी। दीवार गिरने से उसकी एक बच्चे की मौत हो गई है वहीं उसका दूसरा बच्चा दीवार के नीचे दब गया। जिसकी वजह से उसकी रीढ़ टूट गई है। यह सब सुनकर महिला अफसर अपने आंसू नहीं रोक पाईं।

अधिकारियों को दिए निर्देश

बच्चे की परेशानी सुनने के बाद कमिश्नर रोशन जैकब ने भावुकता से बच्चे की पीठ पर हाथ रख कर कहा कि तुम जल्दी ठीक हो जाओगे और हम तुम्हें ठीक करा देंगे। इस दौरान लखनऊ मंडल के कमिश्नर ने अपने साथ मौके पर मौजूद जिले के एडीएम, सीडीओ, सीएमओ आरडीएम को तत्काल बच्चे की मदद करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही उन्होंने परिवार वालों को आश्वासन दिया कि पैसे खर्च नहीं करने पड़ेंगे। उनकी मदद की जाएगी।

यूजर्स ने की तारीफ

सोशल मीडिया पर वीडियो सामने आने के बाद लोग जैकब की तारीफ करते हुए कहने लगे कि इनसे दूसरे अफसरों को सीखने की जरूरत है। सूर्य शुक्ला नाम के एक यूजर ने लिखा कि संवेदना… मंडलायुक्त लखनऊ डॉ रोशन जैकब। ज्ञान प्रकाश नाम के एक टि्वटर हैंडल से लिखा गया कि किसी का दर्द मिल सके तो ले उधार, किसी के वास्ते हो तेरे दिल में प्यार… जीना इसी का नाम है। ये आंसू इतिहास में दर्ज हो गए, नए अफसरों को सीखने की जरूरत है।

दीक्षा सिंह नाम की एक ट्विटर यूजर कमेंट करती हैं, ‘ऐसे संवेदनशील और जमीन से जुड़ी ऐसी अधिकारी कम ही दिखाई देंगी। भरे पानी में चलकर लोगों के दर्द देखना भी कहां सबको आता है।’ रोहित अग्रवाल नाम के एक ट्विटर यूजर ने लिखा – अच्छा लगा यह देखकर कि आप संवेदनशील हैं, दूसरों का दर्द देख कर आपको दर्द हो रहा है पर यकीन मानिए आपके पास अच्छी ताकत है। आप इस व्यवस्था को सुधार सकती हैं।

पढें ट्रेंडिंग (Trending News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 29-09-2022 at 12:17:56 pm