ताज़ा खबर
 

वाराणसी से मेयर का चुनाव जीतीं भाजपा नेता के पति ने पुलिस वालों को दी बिल्ला-टोपी नोंचने की धमकी

मृदुला जायसवाल के निकाय चुनाव जीतने के बाद उनके पति राधाकृष्ण जायसवाल मतगणना स्थल पर पहुंचे थे।

Author नई दिल्ली | December 3, 2017 6:21 PM
मृदुला जायसवाल के जीतने के बाद वाराण्सी में जश्न मनातीं भाजपा कार्यकर्ता। (फाइल फोटो)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी से मेयर पद का चुनाव जीतने वालीं मृदुला जायसवाल के पति ने पुलिस वालों को धमकी दी है। मृदुला के निकाय चुनाव जीतने के बाद उनके पति राधाकृष्ण जायसवाल मतगणना स्थल पर पहुंचे थे। इस दौरान पुलिसकर्मियों के साथ उनकी कहासुनी हो गई थी। किसी बात को लेकर राधाकृष्ण आपा खो बैठे और काउंटिंग स्थल पर तैनात पुलिसकर्मियों से भिड़ गए। उन्होंने जवानों को बिल्ला-टोपी नोंचने की धमकी दे डाली। हालांकि, राधाकृष्ण ने धमकी देने की बात से इन्कार किया है, जबकि वीडियो में उनकी आवाज स्पष्ट सुनी जा सकती है।

वीडियो राधाकृष्ण अपशब्द का इस्तेमाल करते भी सुनाई दे रहे हैं। उनसे जब इस बाबत पूछा गया तो उन्होंने साफ इंकार कर दिया। राधाकृष्ण ने कहा कि मतगणना के दौरान स्थानीय प्रशासन कुछ नियम बनाता है जो कानून नहीं होता है। इस मामले पर सफाई दते हुए राधाकृष्ण ने कहा कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया, बल्कि नियमों का पालन किया है। पुलिसवालों को धमकी देने की बात पर उन्होंने उस पुलिसकर्मी को सामने लाने की बात कही जो ऐसा कह रहा है। उन्होंने ऐसी धमकी देने से इंकार किया है। इस घटना के बाद भाजपा की जीत का जायका बिगड़ने की आशंका जरूर गहरा गई है।

पीएम नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र होने की वजह से वाराणसी पर लोगों की खास निगाहें थीं। वाराणसी नगर निगम में 90 वार्ड हैं। भाजपा यहां 20 वर्षों से काबिज है। इस जिले में एक नगरपालिका परिषद और एक नगर पंचायत है। भाजपा, कांग्रेस, बसपा और सपा के उम्मीदवार मेयर पद की रेस में शामिल थे। मृदुला जायसवाल ने शुरू से ही बढ़ते बनाए हुई थीं, जिसे उन्होंने आखिर तक बरकरार रखा था। पीएम मोदी का संसदीय क्षेत्र होने और योगी आदित्यनाथ के मुख्यमंत्री बनने के बाद निकाय चुनाव में पहले से ही भाजपा की स्थिति मजबूत मानी जा रही थी। इसके अलावा पार्टी वर्षों से यहां से जीतती आ रही है। ऐसे में भाजपा के हारने के आसार पहले से ही बहुत कम थे। वाराणसी के लोगों की मुख्य समस्या सड़क की जर्जर हालत है। मेयर का पद भाजपा के खाते में जाने से हालात में सुधार आने की उम्मीद जताई जा रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App