ताज़ा खबर
 

कांग्रेस नेता ने पूछा, दलित अत्‍याचार पर चुप क्‍यों हैं PM मोदी? जवाब आया- आपके वाले तो क‍भी कुछ नहीं बोले

कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता अहमद पटेल ने Twitter पर पूछा था कि प्रधानमंत्री गुजरात में दलितों पर हो रहे अत्‍याचारों पर चुप्‍पी क्‍यों साधे हुए हैं।

Author नई दिल्‍ली | July 21, 2016 5:23 PM
सोशल मीडिया यूजर्स ने कहा कि हर बात पर पीएम को बोलना जरूरी नहीं है।

कांग्रेस ने गुजरात में दलितों अत्‍याचार के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुप्‍पी पर सवाल उठाए हैं। पार्टी के वरिष्‍ठ नेता अहमद पटेल ने ट्विटर पर कहा कि ‘प्रधानमंत्री गुजरात मॉडल के नाम पर सबसे वोट मांगते फिरते थे, अब गुजरात में दलितों पर हो रहे अत्‍याचार पर वे चुप क्‍यों हैं?’ अहमद पटेल के ट्वीट पर सोशल मीडिया का रिएक्‍शन काफी तीखा रहा। लोगों ने कहा कि इससे पहले भी ऐसी घटनाएं होती रहीं, तब कांग्रेस के पीएम थे, वे तो कुछ नहीं बोले। एक यूजर ने लिखा, ‘हर बात के लिए पीएम को ही जवाब देना चाहिए क्‍या। पूर्व में जितने अन्‍याय हुए हैं, उसपर आपके पीएम तो कभी कुछ नहीं बोले।’ सोशल मीडिया पर सिर्फ अहमद पटेल को ही लोगों के गुस्‍से का सामना नहीं करना पड़ा, खुद राहुल गांधी को भी तीखी आलोचना झेलनी पड़ी। गुजरात के उना में गौरक्षक दल द्वारा गाय चमड़ा के संदिग्ध तस्करों की पिटाई किए जाने के बाद पूरे राज्‍य में हिंसा फैल गई थी। घटना से गुजरात के दलित इतने आहत हुए कि कई ने खुदकुशी करने की कोशिश की। मामला बड़ा होने पर विपक्षी दलों ने गुजरात और केन्‍द्र की बीजेपी सरकार को घेरते हुए इस पर संसद में चर्चा कराने की मांग की।

बुधवार को चर्चा के दौरान, गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने संसद में कहा था कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी घटना के बारे में जानने के बाद बहुत दुखी और आहत हुए हैं। लेकिन साथ ही उन्होंने कांग्रेस शासन के तहत हुए अत्याचार की घटनाओं के आंकड़ों का जिक्र करते हुए विपक्षी पार्टी पर पलटवार किया। उन्होंने कहा कि सरकार संसद के दोनों सदनों में चर्चा करने के लिए तैयार है। उन्होंने आरोप लगाया कि कांग्रेस दलितों पर अत्याचार के मुद्दे का हल करने के प्रति गंभीर नहीं है। सिंह ने कहा, ‘यह एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। इसकी निंदा करने के लिए कोई शब्द नहीं है लेकिन यह पहला मौका नहीं है जब ऐसे अत्याचार हुए हैं।’ मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार मामले के लिए एक विशेष अदालत गठित किए जाने की योजना बना रही है। ‘मैं राज्य सरकार की तीव्र और प्रभावी कार्रवाई के लिए उसे धन्यवाद देता हूं।’

READ ALSO: गुजरात में राहुल ने कहा- मोदी की विचारधारा को पूरे देश में हराएंगे, Twitter पर ऐसे उड़ा मजाक

सोशल मीडिया पर यूजर्स ने दी तीखी प्रतिक्रिया:

READ ALSO: वेश्‍या से तुलना पर मायावती को मिला उमा भारती का साथ, पर चुनावी मुद्दा नहीं बनाने की चेतावनी भी दी

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X