ताज़ा खबर
 

गुड मॉर्निंग नहीं पाकिस्तान में इस स्कूल के बच्चे मुस्लिम टीचर को कहते हैं ‘जय श्री राम’

अनम के इस बेमिसाल प्रयास से इलाके के हिंदू बुजुर्ग काफी खुश रहते हैं। अनम का कहना है कि तमाम विरोधों के बावजूद वो इसलिए इन बच्चों को पढ़ाना नहीं छोड़ती क्योंकि ये बच्चे शिक्षा हासिल करना चाहते हैं और शिक्षा हासिल करना इनका अधिकार भी है।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है। (फोटो- रॉयटर्स)

पाकिस्तान के कराची शहर का एक स्कूल इन दिनों बेहद चर्चे में है। यह स्कूल स्थित है शहर के बस्की गुरु क्षेत्र में। यहां यह स्कूल एक मंदिर में चलाया जाता है। जिसकी अध्यापिका है अनम आगा। खास बात यह है कि इस स्कूल में पढ़ने वाले बच्चे अपनी मुस्लिम अध्यापिका को हर सुबह गुड मॉर्निंग नहीं बल्कि ‘जय श्री राम’ कहते हैं। बस्ती में करीब 80 से 90 हिंदू परिवार रहते हैं। अनम ने इस गरीब इलाके में रहने वाले बच्चों को शिक्षित करने का बीड़ा उठाया है। प्रेम और आपसी सौहार्द के इस मंदिर में जब अनम बच्चों को मुस्कुरा कर सलाम कहती हैं तो बदले में बच्चे जय श्री राम का उद्घोष कर अपनी शिक्षिका का स्वागत करते हैं। इलाके के लोग अनम के इस प्रयास की जमकर सराहना करते हैं।

लेकिन एक तरफ जहां अनम की लोग प्रशंसा करते नहीं थकते वहीं दूसरी तरफ अनम को यहां कई लोगों की नफरत को भी झेलना पड़ता है। अनम के मुताबिक बस्ती के रहने वाले कई मुस्लिम परिवार उनका हिंदू परिवारों से मेलजोल रखना पसंद नहीं करते। लेकिन अनम अपनी धुन की पक्की हैं। हर सुबह मंदिर जाकर हिंदू बच्चों को पढ़ाना उनकी रुटीन बन चुकी है।

HOT DEALS
  • Samsung Galaxy J6 2018 32GB Black
    ₹ 12990 MRP ₹ 14990 -13%
    ₹0 Cashback
  • Honor 9 Lite 64GB Glacier Grey
    ₹ 13989 MRP ₹ 16999 -18%
    ₹2000 Cashback

अनम के इस बेमिसाल प्रयास से इलाके के हिंदू बुजुर्ग काफी खुश रहते हैं। अनम का कहना है कि तमाम विरोधों के बावजूद वो इसलिए इन बच्चों को पढ़ाना नहीं छोड़ती क्योंकि ये बच्चे शिक्षा हासिल करना चाहते हैं और शिक्षा हासिल करना इनका अधिकार भी है। अनम के मुताबिक इनमें से कुछ बच्चे पास के स्कूलों में भी पढ़ने के लिए गये लेकिन वहां उन्हें सामजिक और धार्मिक समस्याएं पेश आई। जिसके बाद अनम ने उन्हें स्कूल में ही पढ़ाना शुरू कर दिया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App