Hardik Pandya shows off six pack abs after Jasprit Bumrah, Yuvraj Singh posts this pic - बुमराह के सिक्स पैक ऐब्स के बाद हार्दिक ने भी दिखाई बॉडी, युवराज ने पोस्ट की यह तस्वीर - Jansatta
ताज़ा खबर
 

बुमराह के सिक्स पैक ऐब्स के बाद हार्दिक ने भी दिखाई बॉडी, युवराज ने पोस्ट की यह तस्वीर

भारत को पहला क्रिकेट विश्व कप दिलाने वाले कप्तान कपिल देव ने भी टीम की फिटनेस की तारीफ की थी।

जिम के भीतर भारतीय क्रिकेटर्स की यह तस्‍वीर युवराज सिंह ने पोस्‍ट की है। (Source: Instagram)

विराट कोहली ने भारतीय क्रिकेट टीम की कमान संभालते ही फिटनेस को प्राथमिकता में रखा। उसी का नतीजा है कि टीम के अधिकतर खिलाड़ी अपनी फिटनेस को लेकर जी-तोड़ मेहनत करने लगे हैं। ‘यो-यो टेस्‍ट’ ने भारतीय क्रिकेटरों को अपनी फिटेनस और फिजीक को दुरुस्‍त रखने की तरफ मोड़ा है। कोहली अक्‍सर जिम में पसीना बहाते नजर आते हैं। हाल ही में भारतीय पेसर जसप्रीत बुमराह ने अपने सिक्‍स पैक एब्‍स की तस्‍वीर इंस्‍टाग्राम पर अपलोड की थी। इसके बाद युवराज सिंह ने इंस्‍टाग्राम पर एक फोटो डाली जिसमें हार्दिक पांड्या अपने सिक्‍स पैक एब्‍स दिखाते नजर आ रहे हैं। तस्‍वीर में युवी और पांड्या के अलावा केदार जाधव, यजुवेंद्र चहल, अक्षर पटेल, जसप्रीत बुमराह और दिनेश कार्तिक भी नजर आ रहे हैं। तस्‍वीरें बेंगलुरु की नेशनल क्रिकेट एकेडमी में ली गई है, जहां सीमित ओवरों के ये भारतीय खिलाड़ी अभ्‍यास कर रहे हैं।

भारत को पहला क्रिकेट विश्व कप दिलाने वाले कप्तान कपिल देव ने भी टीम की फिटनेस की तारीफ की थी। पहले जगमोहन डालमिया मेमोरियल लेक्चर में कोहली और पूरी भारतीय टीम की मौजूदगी में कपिल ने कहा, “सौरव (गांगुली) ने मुझसे मौजूदा टीम के बारे में बोलने को कहा, न कि सिर्फ डालमिया पर। विराट के कंधों पर खेल को आगे ले जाने की जिम्मेदारी है। आप चीजों को बदल सकते हैं। आपने मौजूदा टीम की फिटनेस में ऐसा किया है और यह ऐसी चीज है, जिस पर मुझे गर्व है।”

भारतीय क्रिकेटरों को अब डीएनए परीक्षण से गुजरना पड़ रहा है जिससे प्रत्येक खिलाड़ी की आनुवंशिक फिटनेस स्थिति के बारे में पता चल रहा है। इस परीक्षण से खिलाड़ी को अपनी रफ्तार को बढ़ाने, मोटापा कम करने, दमखम बढ़ाने और मांसपेशियों को मजबूत बनाने में मदद मिलती है। बीसीसीआई ने टीम ट्रेनर शंकर बासु की सिफारिश पर इस परीक्षण को शुरू किया है ताकि राष्ट्रीय टीम के लिये अधिक व्यापक फिटनेस कार्यक्रम तैयार किया जा सके।

डीएनए परीक्षण या आनुवंशिक फिटनेस परीक्षण से 40 साल से अधिक उम्र के व्यक्ति की फिटनेस, स्वास्थ्य और पोषण से संबंधित तथ्यों के बारे में पता किया जा सकेगा। इसके बाद संपूर्ण विश्लेषण के लिये प्रत्येक क्रिकेटर के डीएनए आंकड़ों को एक व्यक्ति विशेष का वजन और खानपान जैसे परिवेशी आंकड़ों के साथ मिलाया जाएगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App