ताज़ा खबर
 

गुजरात के बीजेपी नेता ने RBI गवर्नर के इतिहास की डिग्री का उड़ाया मजाक, मोदी सरकार में रह चुके हैं मंत्री

सफाई देते हुए एक टीवी चैनल से वह बोले, "मैं सिर्फ नए गवर्नर को बधाई दे रहा था।"

उर्जित पटेल के अचानक इस्तीफे के बाद केंद्र सरकार ने दास को नया आरबीआई गवर्नर नियुक्त किया था।

गुजरात में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के नेता जय नारायण व्यास ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार द्वारा हाल ही में नियुक्त किए गए भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के नए गवर्नर शशिकांत दास पर सवालिया निशान लगाए हैं। उन्होंने सोशल मीडिया पर दास की एम.ए डिग्री (इतिहास में) का मजाक उड़ाया। उन्होंने कहा कि वह उम्मीद और प्रार्थना करते हैं कि दास आरबीआई को इतिहास न बनाएं।

बुधवार (12 दिसंबर) को बीजेपी नेता ने इस बाबत ट्वीट कर लिखा, “नए आरबीआई गवर्नर की शैक्षणिक योग्यता एम.ए (इतिहास) है। मैं उम्मीद और प्रार्थना करता हूं कि वह आरबीआई को इतिहास न बनाएं। आने वाले दौर पर ईश्वर कृपा बनाए रखे।” हैरत की बात है कि व्यास तत्कालीन मोदी सरकार (गुजरात) में कबीना मंत्री रह चुके हैं। फिर भी उन्होंने केंद्र के ताजा फैसले को लेकर माखौल उड़ाने वाली टिप्पणी की।

New RBI Governor, Shaktikanta Das, MA History, Degree, Educational Qualification, Joke, Questions, Twitter, Social Media, BJP Leader, Jay Narayan Vyas, Former Cabinet Minister, Gujarat, Then CM, Narendra Modi, Gujarat News, State News, National News, Trending News, Hindi News  नए आरबीआई गवर्नर को लेकर बीजेपी नेता ने यह टिप्पणी की थी।

हालांकि, उनके इस ट्वीट के बाद कई लोग सोच में पड़ गए कि वह बीजेपी में हैं भी या नहीं। पर इस बारे में सफाई देते हुए एक टीवी चैनल से वह बोले, “मैं सिर्फ नए गवर्नर को बधाई दे रहा था।” यही नहीं, उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि वह अभी भी बीजेपी के साथ हैं।

व्यास ने इससे पहले न्यूज एजेंसी एएनआई से कहा था, “आरबीआई को चलाने के लिए घरेलू और अंतर्राष्ट्रीय अर्थव्यवस्था की गहरी जानकारी होनी चाहिए। मैं आईएएस अधिकारी (दास) की इज्जत करता हूं, मगर मैं चाहूंगा कि आरबीआई जैसी संस्था को बेहद कुशल और योग्य इकनॉमिस्ट संभाले। वे लोग खास तौर पर उसके लिए तैयार किए जाते हैं।”

मोदी सरकार और आरबीआई में तनातनी को लेकर सोमवार (10 दिसंबर) को उर्जित पटेल ने अचानक इस्तीफा दे दिया था। गवर्नर की कुर्सी छोड़ने के पीछे निजी कारणों का हवाला दिया था, जिसके बाद केंद्र ने दास को उनकी जगह नया गवर्नर नियुक्त किया। वह आर्थिक मामलों के सचिव रहे हैं। वहीं, उनकी नियुक्ति के बाद वित्त मंत्री अरुण जेटली ने उनकी तारीफ की थी। कहा था- दास बेहद वरिष्ठ और अनुभवी नौकरशाह हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App