ताज़ा खबर
 

Gujarat Election 2017: भविष्‍यवाणी को लेकर भिड़ गए योगेंद्र यादव और एंकर भूपेंद्र चौबे, हुई तीखी बहस

Gujarat Election, Chunav 2017: डिबेट के दौरान एंकर भूपेंद्र चौबे और योगेंद्र यादव में तीखी बहस हुई जो बाद में ट्विटर तक जा पहुंची।
योगेंद्र यादव और भूपेंद्र चौबे में शो के दौरान बहस हो गई।

गुजरात विधानसभा चुनाव 2017 के लिए स्‍वराज इंडिया पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष योगेंद्र यादव ने अपना अनुमान सामने रखा है। योगेंद्र की भविष्‍यवाणी के अनुसार, राज्‍य में भाजपा को हार का मुंह देखना पड़ेगा और कांग्रेस सत्‍ता में आएगी। उन्‍होंने तीन संभावित परिणाम सामने रखे हैं और ये भी कहा है कि भाजपा बेहद बुरी तरह से हार सकती है। योगेंद्र के पहले समीकरण के अनुसार भाजपा को 86 व कांग्रेस को 92 सीटें मिलेंगी, मगर दोनों का वोट प्रतिशत बराबर रहेगा। दूसरे समीकरण में बीजेपी को 65 सीटें जबकि कांग्रेस को 113 सीटें मिलने की बात कही गई है। इसमें बीजेपी को 41 फीसदी वोट व कांग्रेस को 45 फीसदी वोट मिलते दिखाया गया है। तीसरा समीकरण बीजेपी की और बड़ी हार का है। योगेंद्र की इसी भविष्‍यवाणी को लेकर अंग्रेजी समाचार चैनल न्‍यूज18 ने उन्‍हें चर्चा के लिए बुलाया था। हालांकि डिबेट के दौरान एंकर भूपेंद्र चौबे और योगेंद्र यादव में तीखी बहस हुई जो बाद में ट्विटर तक जा पहुंची।

योगेंद्र यादव ने न्‍यूज18 के ट्वीट पर आए हुए यूजर्स के ट्वीट्स को रिट्वीट करना शुरू किया। जब एक यूजर ने कहा लिखा कि ‘भूपेंद्र चौबे को योगेंद्र यादव के साथ दुर्व्‍यवहार करने का अधिकार नहीं है। आपने अपने मेहमान के साथ बदतमीजी की है। यह बेहद शर्मनाक है।’ इस पर टिप्‍पणी करते हुए योगेंद्र ने लिखा, ”यह भारत का सार्वजनिक जीवन है, हर किसी को आपसे बदतमीजी का अधिकार है। हैरानी नहीं कि सभ्‍य लोग सार्वजनिक जीवन में आना नहीं चाहते।” कुछ देर बाद भूपेंद्र चौबे ने अपने ट्विटर अकाउंट से लिखा, ”हर नागरिक को अपनी राय रखने का अधिकार है लेकिन कभी-कभी लोग पुराने चुनाव विश्‍लेषक पर चेहरा देखकर यकीन कर लेते हैं। योगेंद्र यादव की बात को उसी राजनैतिक रूप से लेना होगा जैसे हम बाकी नेताओं की बात को लेते हैं।”

योंगेंद्र ने भूपेंद्र के इस ट्वीट को कोट करते हुए लिखा, ”जो आपसे कहा था, वह दोहरा रहा हूं। मुझे राजनेता कहे जाने में कोई आपत्ति नहीं, मगर ये मान लेने में हैं कि सभी राजनेता झूठ बोलते हैं। कई पत्रकार बीजेपी के पे-रोल पर हैं और शाम के शो में कैसी लाइन लेनी है, इस पर ऑर्डर्स लेते हैं। इसका ये मतलब बिल्‍कुल नहीं कि सभी पत्रकार धोखेबाज हैं।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.