ताज़ा खबर
 

GST पर सवालों के जवाब देने वाले ट्विटर हैंडल ने सिर्फ एक शब्‍द लिखा, और उड़ने लगा मजाक

शुक्रवार (6 अक्टूबर) को नई दिल्ली में आयोजित 22वीं जीएसटी काउंसिल की बैठक में कई बड़े फैसले लिए गए। इसमें छोटे और मध्यम वर्ग के व्यापारियों को राहत देने के लिए करों में थोड़ा सुधार किया गया।
कैबिनेट बैठक के दौरान साथी मंत्रियों से चर्चा करते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। (Source: PIB)

शुक्रवार (6 अक्टूबर) को नई दिल्ली में आयोजित 22वीं जीएसटी काउंसिल की बैठक में कई बड़े फैसले लिए गए। इसमें छोटे और मध्यम वर्ग के व्यापारियों को राहत देने के लिए करों में थोड़ा सुधार किया गया। बैठक में करीब दो दर्जन उत्पादों और पांच सेवाओं के टैक्सों में जीएसटी की दरों को कम किया गया। जीएसटी में बदलाव की खबर को जहां मीडिया इसे टैक्स सुधार बता व्यापारियों के लिए बड़ी राहत बता रहा था। वहीं जीएसटी पर सवालों के जवाब देने वाले ट्विटर हैंडल भी यूजर्स को जीएसटी टैक्स में नए सुधारों की जानकारी दे रहा था। जीएसटी ट्विटर हैंडल से यूजर्स को बदलाव को लेकर नई जानकारी दी जा रही थी। हैंडल से यूजर्स की ज्यादातर सवालो का जवाब दिया जा रहा है लेकिन बिना सवाल के जवाब में ट्विटर हैंडल से ‘ना’ शब्द लिखा गया। इस बातचीत को आप नीचे देख सकते हैं। सभी ट्वीट सुबह ग्यारह बजे के करीब किए गए हैं।

हालांकि माना जा रहा है कि जीएसटी ट्विटर हैंडलर ने गलती से ‘NO’ टाइप कर दिया। लेकिन इस ट्वीट के बाद से यूजर्स ने ट्रोल करना शुरू कर दिया। कई यूजर्स ने सवाल पूछा कि किस सवाल के जवाब में ‘N0’ लिखा गया है, ये तो बताइए। इस दौरान कुछ यूजर्स ने अन्य सवाल भी पूछे। जिन्हें आप यहां देख सकते हैं। एक यूजर्स लिखते हैं जीएसटी समझ में आया क्या? इसका जवाब ‘नो’ लिखा है। एक यूजर लिखते हैं आपके जवाब के लिए धन्यवाद। भाजपा नेताओं के उलट आपने सच तो बोला, जो झूठ बोलते हैं।

गौरतल है कि बीते शुक्रवार को जीएसटी काउंसिल ने बच्चों की खाने-पीने की डब्बा बंद चीजों पर जीएसटी की दर को 12 फीसदी से घटाकर पांच फीसदी तक कर दिया है। वहीं स्टेशनरी के सामान पर लागू 28 फीसदी टैक्स को भी 18 फीसदी तक किया गया है। आयुर्वेदिक दवाओं पर लगने वाले जीएसटी में भी कमी की गई है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.