ताज़ा खबर
 

बच्ची को वृद्धाश्रम में मिलीं दादी, इस वायरल फोटो को देख गुस्से में हैं लोग

इस पोस्ट को अब तक 13 हजार बार रीट्वीट किया गया है। फेसबुक पर मणि भद्रा नाम के एक यूजर ने इस तस्वीर की कहानी को बयान किया है।

बुजुर्ग महिला को पकड़कर रो रही बच्ची की यह तस्वीर वायरल हुई है। फोटो सोर्स – (ट्विटर, @anita chauhan80)

सोशल मीडिया पर दादी और पोती की एक तस्वीर वायरल हुई है। भावुक कर देने वाली इस तस्वीर में दिख रहा है कि स्कूल ड्रेस पहनी एक बच्ची एक बुजुर्ग महिला को पकड़कर रो रही है। इस तस्वीर को ट्विटर पर समाज सेविका अनिता चौहान ने शेयर किया है। अनित चौहान को समाज में महिलाओं की लड़ाई लड़ने वाली समाज सेविका के तौर पर जाना जाता है। जल्दी ही क्रिकेटर हरभजन सिंह ने इसे रीट्वीट भी किया और इसके बाद इस तस्वीर को लेकर तरह-तरह की चर्चाएं शुरू हो गई हैं। कई लोग दादी-पोती के प्यार की तारीफ कर रहे हैं तो तस्वीर के सामने आने के बाद कुछ लोगों का गुस्सा इस बात पर फूट पड़ा है कि आखिर क्यों बेटे अपने बूढ़े मां-बाप को उम्र के इस अहम पड़ाव पर उन्हें अलग कर उन्हें वृद्धाश्रम में छोड़ देते हैं।

दरअसल यह तस्वीर है साल 2007 की। जानकारी के मुताबिक यह तस्वीर उस वक्त खींची गई जब एक स्कूल की तरफ से ट्रिप के दौरान स्कूली बच्चे एक वृद्धाश्रम में पहुंचे थे। वृद्धाश्रम में इस बच्ची को अचानक उसकी अपनी दादी मिल गईं। उस वक्त बच्ची का कहना था कि जब कभी वो अपने मां-बाप से अपनी दादी के बारे में पूछती थी तो वो लोग उससे कहते थें कि उसकी दादी किसी रिश्तेदार के यहां चली गई हैं। अचनाक वृद्धाश्रम में दादी को देखने के बाद यह बच्ची भावुक हो गई और वहीं फूंट-फूंट कर रोने लगी। इस तस्वीर की उस वक्त काफी चर्चा हुई थी। कई लोगों ने मां-बाप के साथ बेटों के ऐसे व्यवहार की आलोचना भी की थी।


इस पोस्ट को अब तक 13 हजार बार रीट्वीट किया गया है। फेसबुक पर मणि भद्रा नाम के एक यूजर ने इस तस्वीर की कहानी को बयान किया है। बहरहाल 11 साल पुराने इस तस्वीर को लेकर लोग यह कह रहे हैं कि अब भी समाज में कई बुजुर्ग अपने ही बेटों की अनदेखी का शिकार हो रहे हैं और वृद्धाश्रम में रहने को मजबूर हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App