बकरी चुराने पर भेज देते हैं जेल, हम तो चोरी ही नहीं होने देते – बोले बीजेपी प्रवक्ता, ‘राजा भैया’ का नाम लेकर सपा पर लगाए आरोप

सपा प्रवक्ता ने कहा कि बकरी चोरी, किताब चोरी, गैस चोरी, बिजली चोरी इन सब पर आपकी सरकार मुकदमा करती है।

UP News, Raja Bhaiya With Akhilesh Yadav
लाइव शो में 'राजा भैया' का नाम लेकर सपा पर बीजेपी प्रवक्ता ने लगाए आरोप (फोटो सोर्स – पीटीआई)

यूपी विधानसभा चुनाव के मुद्दे पर हो रही है डिबेट के दौरान भाजपा प्रवक्ता गौरव भाटिया और सपा प्रवक्ता अनुराग भदौरिया एक दूसरे से उड़ते हुए दिखाई दिए। भाजपा प्रवक्ता ने सपा पर हमला बोलते हुए कहा कि बकरी चुराने पर भी इनके समय पुलिस जेल भेज देती है। इसके साथ ही उन्होंने प्रतापगढ़ जिले के कुंडा विधानसभा क्षेत्र से विधायक रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया का नाम लेकर सपा पर आरोप लगाए।

भाजपा प्रवक्ता गौरव भाटिया ने डिबेट अपनी पार्टी का पक्ष रखते हुए कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार में बकरी चुराने के बाद लोग जेल भेज दिए जाते हैं। हम तो कह रहे हैं कि चुरानी ही नहीं है। उनकी बात पर पलटवार करते हुए सपा प्रवक्ता ने कहा कि बकरी चोरी, किताब चोरी, गैस चोरी, बिजली चोरी इन सब पर आपकी सरकार मुकदमा करती है।

उन्होंने बीजेपी पर तंज करते हुए कहा कि ये लोग तो ऐसे करते हैं कि भदौरिया जी आए थे पेंसिल गायब हो गई है उन पर मुकदमा कर दो। सपा प्रवक्ता के इन आरोपों पर गौरव भाटिया ने कहा कि यह तोता उड़ने लगता है तो पकड़ में ही नहीं आता। दूसरी तरफ सपा प्रवक्ता ने कहा कि इसलिए मैं कह रहा हूं कि पुलिस वालों को हमने बहुत करीब से देखा है। हमने पुलिस वालों का काम देखा है सरकार कह देगी तो वह मुकदमा दर्ज कर देते हैं।

उनकी इस बात पर एंकर ने आपत्ति जताते हुए कहा कि पुलिस वालों का हमें सम्मान करना चाहिए। उनके लिए इस तरह की बातें ठीक नहीं है। बीजेपी प्रवक्ता ने बताया कि बात पर कहा कि ये लोग पुलिस वालों का सम्मान नहीं करते हैं। जियाउल हक जो सीबीआई के अफसर थे.. राजा भैया जो मंत्री हैं.. उस समय समाजवादी पार्टी की सरकार थी..उनको मार दिया गया था। ये लोग पुलिस वालों के सम्मान की बात करते हैं।

गौरव भाटिया के इस वार पर सपा प्रवक्ता ने पलटवार करते हुए कहा कि इंस्पेक्टर सुबोध की हत्या किसने की थी। जिसने हत्या की थी उसको बीजेपी सम्मानित कर रही थी। जानकारी के लिए बता दें कि 2013 में कुंडा के तत्कालीन सीओ जिया उल हक की हत्या कर दी गई थी। उस समय कुंडा से विधायक रघुराज प्रताप सिंह ‘राजा भैया’ को मंत्री पद से इस्तीफा देना पड़ा था। सीबीआई जांच के बाद उन्हें क्लीन चिट दे दी गई थी।

पढें ट्रेंडिंग समाचार (Trending News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट