ताज़ा खबर
 

कांग्रेस का ‘गब्बर’ अटैक, शोले के कई पोस्टर जारी करके साधा मोदी सरकार पर निशाना

भाजपा के खिलाफ कांग्रेस सोशल मीडिया कैंपेन तब पहली बार कामयाब होता नजर आया जब 'विकास गांडो थायो छे अर्थात विकास पागल हो गया' वायरल किया गया।

कांग्रेस उपाध्यक्ष द्वारा जीएसटी को गब्बर सिंह टैक्स बताए जाने पर सोशल मीडिया पर मोदी सरकार के खिलाफ कई पोस्टर वायरल किए गए हैं। (फोटो सोर्स सोशल मीडिया)

राहुल गांधी ने कर सुधारों और नोटबंदी को लेकर पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए सोमवार (23 अक्टूबर) को उत्पाद व सेवा कर (जीएसटी) को ‘गब्बर सिंह टैक्स’ बताया। उनके इस बयान के बाद कांग्रेस आईटी सेल तुंरत सक्रिय हो गया और मोदी सरकार के खिलाफ कई ‘मीम’ जारी कर सरकार को ट्रोल करने की कोशिश की। मीम पीएम मोदी और भाजपा की आर्थिक रणनीतियों के खिलाफ जारी किए गए। कांग्रेस ने छह पोस्टर रिलीज किए जिसमें गब्बर सिंह के डायलॉग को मोडीफाई किया गया। पहले पोस्टर में गब्बर सिंह के डायलॉग को ‘अरे ओ सांबा कितना इनाम रखे हैं सरकार हमपर?’ बदलकर लिखा गया, ‘अरे ओ जेटली कितना टैक्स रखा है सरकार ने सब पर?’ दूसरे पोस्टर में लिखा गया है, ‘क्या सोचकर आए थे, साहब 15 लाख देगा, साबासी देगा, अब तू दे…जीएसटी’

गौरतलब है गुजरात दौरे पर पहुंचे राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा था कि गुजरात अनमोल है और इसे खरीदा नहीं जा सकता। उनकी यह टिप्पणी पाटीदार नेता नरेंद्र पटेल के इस दावे के एक दिन बाद आई कि भाजपा में शामिल होने के लिए उन्हें एक करोड़ रुपए की पेशकश की गई थी। भाजपा ने पटेल के आरोप को खारिज कर दिया। वहीं कांग्रेस के पोस्टर वार पर गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपानी ने राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए कहा, ‘ये कांग्रेस ही थी जो जीएसटी लागू करना चाहती थी, उन्होंने उस समय आपत्ति क्यों नहीं जताई?’ इन दिनों कांग्रेस ने भाजपा के खिलाफ सोशल मीडिया पर अभियान चला रखा है। खबरों की माने तो ऐसा पहली बार है जब सोशल मीडिया पर कांग्रेस भाजपा से आगे निकलती हुई नजर आ रही है। भाजपा के खिलाफ कांग्रेस सोशल मीडिया कैंपेन तब पहली बार कामयाब होता नजर आया जब ‘विकास गांडो थायो छे अर्थात विकास पागल हो गया’ वायरल किया गया।

जानकारी के लिए बता दें कि राहुल ने गांधीनगर में ठाकोर समुदाय की रैली को संबोधित करते हुए कहा था, ‘उनकी (केंद्र की) जीएसटी, जीएसटी नहीं है। जीएसटी का मतलब है गब्बर सिंह टैक्स। इससे देश को काफी नुकसान हो रहा है। छोटे दुकानदार समाप्त हो गए हैं। लाखों युवक बेरोजगार हो गए। लेकिन वे अब भी सुनने को तैयार नहीं हैं। मौजूदा जीएसटी वह नहीं है जिसकी परिकल्पना कांग्रेस ने की थी। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी ने नई कर व्यवस्था के प्रतिकूल प्रभाव के बारे में सरकार को आगाह किया था लेकिन मोदी सरकार ने उन सुझावों के खिलाफ काम किया। राहुल ने सरकार से नई कर व्यवस्था को सरल बनाने को कहा था।

राहुल ने नोटबंदी को लेकर भी मोदी का उपहास किया। नोटबंदी की घोषणा पिछले साल आठ नवंबर को हुई थी। उन्होंने कहा, ‘आठ नवंबर को क्या हुआ, नहीं मालूम, मोदी ने कहा कि 500 और 1000 रुपए के नोट मुझे नहीं पसंद हैं, इसलिए आज रात 12 बजे से वे रद्दी हो जाएंगे। हा हा हा।’ राहुल ने कहा कि पहले दो-तीन दिन तक प्रधानमंत्री को नहीं समझ आया कि क्या हो गया। प्रधानमंत्री ने पांच-छह दिनों बाद अपनी गलती महसूस की। उन्होंने आरोप लगाया कि नरेंद्र मोदी ने पूरे देश की अर्थव्यवस्था को तबाह कर दिया।

देखें मीम…

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App