ताज़ा खबर
 

शोक संदेश पर भी मुझे गालियां दीं, मौत की दुआएं कीं, ट्विटर पर रहूं या चला जाऊं- इस ट्वीट पर भी ट्रोल हुए यशवंत सिन्‍हा

मंगलवार (11 जून, 2019) को पूर्व दिग्गज भाजपा नेता ने ट्वीट कर कहा, 'दो बार मैंने किसी के मरने पर शोक संदेश ट्वीट किया था। इस पर भी ट्रॉल्स ने मुझे गाली ही नहीं दी बल्कि यह भी कामना की की मैं भी मर जाऊं।'

Author नई दिल्ली | June 12, 2019 3:45 PM
यशवंत सिन्हा ने हाल ही में दिग्गज बॉलीवुड एक्टर और लेखक गिरीश कर्नाड के निधन पर शौक भरा ट्वीट किया था। इस ट्वीट पर भी यूजर्स ने उन्हें खूब ट्रोल किया। (PTI PHOTO)

पूर्व केंद्रीय मंत्री यशवंत सिन्हा ने ट्वीट कर सोशल मीडिया यूजर्स के प्रति गहरी नाराजगी जाहिर की है। उन्होंने कहा कि ‘शोक संदेश’ से जुड़ा ट्वीट करने पर भी ट्रोल किया जा रहा है। उन्हें गालियां दी गईं और मौत की दुआएं की गईं। मंगलवार (11 जून, 2019) को पूर्व दिग्गज भाजपा नेता ने ट्वीट कर कहा, ‘दो बार मैंने किसी के मरने पर शोक संदेश ट्वीट किया था। इस पर भी ट्रॉल्स ने मुझे गाली ही नहीं दी बल्कि यह भी कामना की की मैं भी मर जाऊं।’ ट्वीट में उन्होंने आगे कहा, ‘क्या मैं ट्विटर पर बना रहूं या छोड़ दूं? क्या यह हम जैसे लोगों के लिए नही है? केवल गाली देने वालों के लिए है।’

सिन्हा के इस ट्वीट के बाद भी ट्विटर यूजर्स ने उन्हें खूब ट्रोल किया। राजपाल टूलर नाम के यूजर ने लिखा, ‘ट्विटर छोड़ने से ट्विटर का भी भला होगा और हमारा भी।’ मुकुंद खारवार ने ट्वीट कर लिखा, ‘कमाल के भाजपा नेता हैं, इनको प्रधानमंत्री का पद ऑफर नहीं दिया गया था, तो मोदी सरकार के खिलाफ हमेशा बयान देते रहते हैं।’ गौरीशंकर सिंह लिखते हैं, ‘आपके लिए गाली क्या है? धूल है, झाड़ते रहिए। काजल की कोठरी में घुसे हैं, फिर कालिख से परहेज क्यों?’ एक ट्वीट में लिखा गया, ‘अरे सर… किसी के मनाने से किसी का मौत नहीं होती। आपने भी मोदी की हार की कामना की थी, नतीजा आपके सामने है।’ रतन कुमार अग्रवाल लिखते हैं, ‘स्वार्थी छवि बदलना ही इस समस्या का हल है। राम मंदिर के लिए निःस्वार्थ कुछ करें। बंगाल की अराजकता के बारे में कुछ बोले करें। कश्मीर पत्थरबाजी रोकने के लिए कुछ करें। ट्रोल होना बंद हो जाएंगे।’ कृष्णा चौधरी लिखते हैं, ‘मरने की इतनी भी क्या जल्दी है…अभी तो आपको ओर जलील होना है।’ दीपक पटेल लिखते हैं, ‘छोड़ दीजिए ट्विटर…..आपको हर महीने ट्विटर द्वारा पेंशन मिलती रहेंगी।’

बता दें कि सिंह ने हाल ही में दिग्गज बॉलीवुड एक्टर और लेखक गिरीश कर्नाड के निधन पर शौक भरा ट्वीट किया था। इस ट्वीट पर भी यूजर्स ने उन्हें खूब ट्रोल किया। एक यूजर्स उनके इस ट्वीट पर तंज कसते हुए लिखा कि उनका नंबर कब आएगा। छोरा हापुल नाम से ट्वीट कर लिखा गया, ‘सिन्हा साहब आप देश के साथ हैं या देश विरोधियों के। मरने दो राक्षसी प्रवृत्ति के समर्थक को।’ पंकज गुप्ता ने लिखा, ‘चचा (कर्नाड) नर्क में गए हैं।’ सिन्हा के शोक संदेश वाले ट्वीट के जवाब में लिखा गया, ‘अरबन नक्सली के चेले अब राजनीति से संन्यास ले ले!’ प्रेम कुमार ने ट्वीट कर लिखा, ‘आप कब मौका देगे हमें।’

बता दें कि यशवन्त सिन्हा ने अप्रैल 2018 में पटना में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के जरिए भाजपा छोड़ दी थी। इसके साथ ही उन्होंने सक्रिय राजनीति से सन्यास लेने की घोषणा कर दी थी। पार्टी छोड़ते वक्त तब उन्होंने कहा था, ‘लंबे अरसे से भारतीय जनता पार्टी के साथ जो मेरा संबंध है आज मैं वो संबंध विच्छेद कर रहा हूं।’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X