ताज़ा खबर
 

क्रिकेटर कैफ ने दी छठ पूजा की बधाई, लोग बोलें- क्यों बार-बार इस्लाम को खतरे में डालते हो

मोहम्मद कैफ ने छठ पूजा की एक तस्वीर अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर करते हुए लिखा छठ पूजा मना रहे सभी लोगों को हार्दिक शुभकामनाएं।

Author नई दिल्ली | October 27, 2017 2:51 PM
पूर्व भारतीय क्रिकेटर मोहम्मद कैफ।(Photo: Twitter)

देशभर में छठ पूजा का त्योहार बहुत ही धूमधाम से मनाया जा रहा है। इस त्योहार को ज्यादातर हिन्दू ही मनाते हैं, जो कि सूर्य देव की उपासना के लिए प्रसिद्ध है। ऐसे में किसी मुसलमान द्वारा इस पर्व की बधाई देना उसके मजह के लोगों को खल सकता है। हम बात कर रहे हैं पूर्व भारतीय क्रिकेटर मोहम्मद कैफ की जो की सोशल मीडिया पर किए अपने पोस्ट्स को लेकर अक्सर विवादों में घिर जाते हैं। ताजा मामला छठ पूजा का है। मोहम्मद कैफ ने छठ पूजा की एक तस्वीर अपने ट्विटर हैंडल पर शेयर करते हुए लिखा छठ पूजा मना रहे सभी लोगों को हार्दिक शुभकामनाएं। आप पर कृपया बनी रहें। वहीं कैफ के इस ट्वीट के बाद कई यूजर्स इस पर प्रतिक्रिया देते हुए कह रहे हैं कि क्यों इस्लाम को खतरे में डालते हो।

एक ने लिखा भाई छठ पूजा की बधाई दे रहे हो या मौलवी जी की छाती पर मूंग दल रहे हो, क्यों बार-बार इस्लाम को खतरे में डालते हो। एक ने लिखा मैं परेशान हूं कि कहीं फिर से आपके खिलाफ फतवा न आ जाए, आपको भी छठ पूजा की शुभकामनाएं, सूर्य भगवान आप पर कृपया करें और ढेर सारी खुशियां, कामयाबी दें। एक ने लिखा आपको भी बधाई सर, आशा करता हूं कि इस पर कोई फतवा जारी न हो। एक ने लिखा संभलकर कैफ, जल्द ही आप पर बहुत सारे फतवे आने वाले हैं। एक ने लिखा बहुत खूब कहा सर, आशा करते हैं कि छठ पूजा की बधाई देने पर आपके खिलाफ कोई फतवा न जारी हो जाए।

HOT DEALS
  • Apple iPhone SE 32 GB Gold
    ₹ 25000 MRP ₹ 26000 -4%
    ₹0 Cashback
  • Apple iPhone 7 32 GB Black
    ₹ 41999 MRP ₹ 52370 -20%
    ₹6000 Cashback

बता दें कि इससे पहले मोहम्मद कैफ कई बार कट्टरपंथियों के निशाने पर आ चुके हैं। एक बार कैफ ने सूर्य नमस्कार करते हुए अपनी कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया पर साझा की थीं जिसके बाद दारुल उलूम ने इसे मजहब के खिलाफ बता दिया था। वहीं कैफ ने कुछ समय बाद अपने बेटे के साथ चेस खेलते हुए एक फोटो ट्विटर पर डाली थी जिसे खेलने बुद्धिजीवियों ने इस्लाम के खिलाफ बताया था।

देखिए वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App