ताज़ा खबर
 

पूर्व बीजेपी सांसद बोले- रमजान उसी को मुबारक जो तिरंगा पहनेगा, लोगों ने किया ट्रोल

इसके जवाब में विजय ने एक अन्य ट्वीट कर कहा, 'आपको असहिष्णुता, अज्ञानता, नफरत कहां से मिली? तिरंगे के लिए शहीद होने वाले पहले व्यक्ति डॉ. श्याम प्रसाद मुखर्जी थे, जो श्रीनगर में शहीद हुए। रामपुर में 14 से ज्यादा हमारे कार्यकर्ता तिरंगे के लिए मर गए। तिरंगे को सांप्रदायिक रंगों में नहीं बाटिए। क्या आप जिहादियों के लिए गुस्सा हैं?'

रमजान के दौरान मस्जिद में मुस्लिम (पीटीआई फोटो)। तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है।

रमजान की मुबारक बात को लेकर बीजेपी के पूर्व सांसद तरुण विजय ने ऐसी बात कह दी कि लोगों ने उन्हें जमकर ट्रोल कर दिया। तरुण विजय ने ट्वीट कर कहा कि वह उन लोगों को ही रमजान की मुबारक बात देंगे जो तिरंगा पहनेंगे। इस पर सोशल मीडिया यूजर्स के एक धड़े ने उन्हें जमकर ट्रोल कर दिया। पूर्व सांसद ने ट्वीट कर कहा, ‘रमजान उसी को मुबारक जो हिंसा का त्याग करेगा और तिरंगा पहनेगा। हमारी दुनिया और आपके रमजान को अनिवार्य रूप से देश की गरीमा और महिमा से जुड़ना चाहिए, नहीं तो…’ उनके इस ट्वीट पर लोगों ने उन्हें जमकर ट्रोल कर दिया। एक यूजर ने कहा, ‘नहीं तो क्या? मुबारक बात देने के लिए शर्त? वैसे भी अभी तक आपके आरएसएस द्वारा ही तिरंगा का त्याग किया गया था। मुस्लिमों ने देश की आजादी के लिए लड़ाई लड़ी और हमेशा देश के लिए ईमानदार रहे। आपके ब्रिटिश दोस्तों ने ही आरएसएस को बढ़ावा दिया।’

इसके जवाब में विजय ने एक अन्य ट्वीट कर कहा, ‘आपको असहिष्णुता, अज्ञानता, नफरत कहां से मिली? तिरंगे के लिए शहीद होने वाले पहले व्यक्ति डॉ. श्याम प्रसाद मुखर्जी थे, जो श्रीनगर में शहीद हुए। रामपुर में 14 से ज्यादा हमारे कार्यकर्ता तिरंगे के लिए मर गए। तिरंगे को सांप्रदायिक रंगों में नहीं बाटिए। क्या आप जिहादियों के लिए गुस्सा हैं?’

इस ट्वीट पर एक यूजर ने लिखा, ‘आपको सीधे तौर पर मुबारक बात देने से मना कर देना था, आप मुस्लिमों को पसंद नहीं करते, अच्छी बात है, लेकिन धमकी देने की कोई जरूरत नहीं है। एक और बात श्याम मुखर्जी पहले शहीद कैसे हो गए और मोहम्मद उस्मान का क्या? उस्मान 1948 में शहीद हुए थे और मुखर्जी 1953 में।’

यूजर के इस ट्वीट से भड़कते हुए बीजेपी के पूर्व सांसद ने एक अन्य ट्वीट किया। उन्होंने कहा, ‘मुझे आश्चर्य हो रहा है कि जिहादियों के लिए लिखे गए एक वाक्य ने तुम्हें इतना असहज कर दिया, क्यों? मोहम्मद उस्मान, सोमनाथ शर्मा, शैतान सिंह और भी बहुत से लोग देश के यौद्धा थे, उन्हें मैं सैल्यूट करता हूं। ये सब भारतीय थे।’ एक अन्य यूजर ने कहा, ‘नहीं तो क्या? आप धमकी दे रहे हो? आपका इरादा क्या है?’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App