ताज़ा खबर
 

बीजेपी सांसद हेमा मालिनी ने CWG घोटाले के दागी सुरेश कलमाड़ी को सराहा, हुईं ट्रोल

भाजपा सांसद हेमामालिनी सोशल मीडिया पर एक बार फिर से ट्रोल हो गईं हैं। इस बार उन्हें कॉमनवेल्थ गेम्स में भ्रष्टाचार के आरोपी सुरेश कलमाड़ी की तारीफ करने के कारण आलोचना का शिकार होना पड़ा है।

पुणे गणेश महोत्सव के दौरान सुरेश कलमाड़ी के साथ हेमा मालिनी। एक्सप्रेस फाइल फोटो

फिल्म अभिनेत्री और भाजपा सांसद हेमामालिनी सोशल मीडिया पर एक बार फिर से ट्रोल हो गईं हैं। इस बार उन्हें कॉमनवेल्थ गेम्स में भ्रष्टाचार के दागी सुरेश कलमाड़ी की तारीफ करने के कारण आलोचना का शिकार होना पड़ा है। वैसे खबर लिखे जाने तक हेमामालिनी ने अपने इस ट्वीट पर अपनी तरफ से कोई भी सफाई नहीं दी है। दरअसल हेमामालिनी ने अपने आधिकारिक ट्विटर अकाउंट से 16 सितंबर को पुणे में गणेश चतुर्थी के भव्य आयोजन और उसकी परंपरा के बारे में ट्वीट किया था। लेकिन अपने इस ट्वीट में इस आयोजन को यादगार बनाने का श्रेय उन्होंने सुरेश कलमाड़ी और उसके परिवार को दिया।

अपने ट्वीट में हेमामालिनी ने लिखा,” पुणे गणेश महोत्सव, 30 सालों के बाद भी मैं उस आयोजन से अपने लंबे जुड़ाव को याद करती हूं। पुराने दिनों की यादें ताजा हो गईं। मैं पूरे देश के परफॉर्मिंग कलाकारों को ऐसा भव्य मंच देने और शानदार व्यवस्था करने के लिए सुरेश कलमाड़ी और उनकी टीम की सराहना करती हूं।”

इसके बाद सोशल मीडिया पर मौजूद यूजर्स ने उनके इस ट्वीट को आड़े हाथों लेना शुरू कर दिया। एक यूजर ने लिखा कि कृपया इस ट्वीट को डिलीट कर दीजिए और सुरेश कलमाड़ी का नाम हटाकर इसे दोबारा पोस्ट कीजिए। एक यूजर ने लिखा कि लुटेरा सुरेश कलमाड़ी। एक अन्य यूजर ने नाराजगी भरे अंदाज में लिखा कि उसने 1300 प्रतिशत ऊंचे दामों पर ट्श्यिू पेपर खरीदे थे। एक दूसरे यूजर ने सलाह देते हुए लिखा कि चोर से दूर रहें तो अच्छा है महोदया।

वैसे बता दें कि सुरेश कलमाड़ी साल 1996 से साल 2011 तक भारतीय ओलंपिक संघ का अध्यक्ष रहा था। कलमाड़ी नई दिल्ली में आयोजित राष्ट्रमंडल खेलों (2010) की आयोजन समिति का भी प्रमुख था। राष्ट्रमंडल खेलों के आयोजन में बड़ी आर्थिक अनियमितता के बाद कलमाड़ी पर अपने पद का दुरुपयोग करने और भ्रष्टाचार में लिप्त होने के आरोप लगे। कलमाड़ी को मजबूरी में पद छोड़ना पड़ा। जेल हुई तो तीन बार के सांसद कलमाड़ी को कांग्रेस ने भी बर्खास्त कर दिया। 10 महीने जेल में रहने के बाद कलमाड़ी को जमानत पर रिहा किया गया। ओलंपिक संघ के अध्यक्ष के कार्यकाल के दौरान ही कलमाड़ी 2000 से 2013 तक एशियन एथलेटिक्स महासंघ का भी अध्यक्ष रहा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App