ताज़ा खबर
 

‘लगता है अकाउंट हैक हो गया है’, BHU के संस्कृत प्रोफेसर फिरोज खान के समर्थन में परेश रावल को देख ऐसे कमेंट कर रहे लोग

कुछ लोग परेश रावल के इस ट्वीट से हैरान भी हैं। ऐसे कुछ लोग कह रहे हैं कि लगता है परेश रावल का अकाउंट हैक हो गया है। उनके अकाउंट से कोई तार्किक और एकता के मैसेज पोस्ट कर रहा है। वहीं कुछ लोग ये भी लिख रहे हैं कि सांसदी जाते ही सदबुद्धी आ गई परेश रावल में।

Author Published on: November 20, 2019 10:09 AM
BHU के संस्कृत प्रोफेसर फिरोज खान के समर्थन में ट्वीट कर ट्रोल हो रहे परेश रावल।

संस्कृत में शास्त्री यानी ग्रेजुएट, आचार्य (पोस्ट ग्रेजुएट), शिक्षा शास्त्री (बीएड) की डिग्री के साथ बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी (BHU) के संस्कृत विद्यालय धर्म विज्ञान (SVDV) संस्थान में संस्कृत प्रोफेसर बने फिरोज खान इन दिनों चर्चा में हैं। दरअसल संस्कृत विद्यालय धर्म विज्ञान (SVDV) संस्थान में उनकी नियुक्ति के बाद काशी हिंदू विश्वविद्यालय में विरोध शुरू हो गया है। BHU में फिरोज खान की नियुक्ति का विरोध कर रहे अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद से जुड़े छात्रों का कहना है कि कोई भी व्यक्ति जो उनकी भाषा और धर्म के आधार से नहीं जुड़ा है, वो हमें कैसे पढ़ा सकता है। इस पर फिरोज खान का कहना है कि मेरी नियुक्ति संस्कृत साहित्य पढ़ाने के लिए हुई है, जिसका धर्म से कोई लेनादेना नहीं है।

इन सब विवाद के बीच भारतीय जनता पार्टी के पूर्व सांसद और फिल्म अभिनेता परेश रावल ने प्रोफेसर फिरोज खान की नियुक्ति का समर्थन किया है। फिरोज खान के समर्थन में ट्वीट करते हुए परेश रावल ने लिखा- मैं प्रोफेसर फिरोज खान के विरोध को देख सत्ब्ध हूं। भाषा का धर्म से क्या लेना-देना है। इसे तो विडंबना ही कहेंगे कि जिस फिरोज खान ने संस्कृत में मास्टर्स और पीएचडी किया हो उसी का विरोध हो रहा है। भगवान के लिए ये सब मूर्खता बंद होनी चाहिए।

 

इस ट्वीट के बाद परेश रावल ने एक और ट्वीट किया। अपने अगले ट्वीट में परेश रावल ने लिखा- ये तो वही बात हो गई जैसे कहा जाए कि मोहम्मद रफी को भजन नहीं गाने चाहिए औऱ नौशाद साहब को इन्हें कंपोज नहीं करना चाहिए।

 

प्रोफेसर फिरोज खान के सपोर्ट में परेश रावल को देख सोशल मीडिया यूजर्स उन्हें ही ट्रोल करने लगे। ट्रोल करने वाले बहुत से लोगों ने लिखा कि फिरोज खान संस्कृत के इतने बड़े ज्ञाता हैं तो वह जाकर अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में संस्कृत पढ़ाएं। वहीं कुछ ने लिखा कि क्या किसी हिंदू प्रोफेसर को मक्का में अरबी पढ़ाने दिया जाएगा। कुछ यूजर्स ये भी लिख रहे हैं कि इस तरह का काम करने वालों का आपने भी खूब समर्थन किया है..तो अब भुगतिए।

 

वहीं कुछ लोग परेश रावल के इस ट्वीट से हैरान भी हैं। ऐसे कुछ लोग कह रहे हैं कि लगता है परेश रावल का अकाउंट हैक हो गया है। उनके अकाउंट से कोई तार्किक और एकता के मैसेज पोस्ट कर रहा है। वहीं कुछ लोग ये भी लिख रहे हैं कि सांसदी जाते ही सदबुद्धी आ गई परेश रावल में।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 JNU छात्रों पर लाठी चार्ज को ज्यादातर यूजर्स ने बताया मजबूरी, बोल रहे- ऊपर से मिले थे आदेश
2 ‘बिल के साथ जीएसटी’, Bill Gates के साथ पीएम नरेंद्र मोदी की तस्वीर पर यूं मजे ले रहे लोग
3 VIDEO: ‘स्वामी मेरी जवानी की रक्षा करो..’, स्वामी ओम के साथ दीपक कलाल का वीडियो हुआ वायरल
जस्‍ट नाउ
X