ताज़ा खबर
 

शोधकर्ता ने किया दावा- 23 सितंबर से होगी दुनिया के अंत की शुरुआत, धरती से टकरा सकता है प्लैनेट एक्स

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने ऐसे किसी ग्रह के अस्तित्व से इनकार किया है।

Author Updated: September 19, 2017 3:27 PM
यह काल्पनिक ग्रह हमारी सौर व्यवस्था के बाहर हो सकता है। (REPRESENTATIONAL IMAGE)

यूट्यूब पर शेयर किए जा रहे एक वीडियो में दावा किया जा रहा है कि धरती के अंत की शुरुआत आने वाले शनिवार (23 सितंबर) से हो जाएगी। इस वीडियो में दावा किया गया है कि बाइबिल में दिए गये वर्णनों का हवाला दिया गया है। एक स्वघोषित ईसाई शोधकर्ता डेविड मिएडे ने वीडियो में ये दावा किया है। वीडियो को अभी तक 27 लाख लोग देख चुके हैं। वीडियो में दावा किया गया है कि बाइबिल के बुक ऑफ रिविलेशन में दुनिया के अंत के बारे में संकेत दिए गये हैं। वीडियो में कहा गया है कि दुनिया के अंत के लिए जरूरी ग्रहों का संयोग 23 सितंबर को बन रहा है। वीडियो के अनुसार वृश्चिक, कन्या, मंगल, बुध, सिंह इत्यादि सभी राशियों को एक विशेष स्थिति में होने पर ही “दुनिया के अंत” की शुरुआत होगी और ये स्थिति इस शनिवार को बन रही है।

वीडियो में दावा किया गया है कि प्लैनेट एक्स (निबुरु) नामक ग्रह धरती के करीब से गुजरने वाला है। वैज्ञानिकों को ऐसे किसी ग्रह की जानकारी नहीं है लेकिन ईसाई शोधकर्ता ने दावा किया है कि ये ग्रह धरती के 1.4 करोड़ मील से गुजरेगा। दावा है कि ये काल्पनिक ग्रह धरती से टकरा भी सकता है। शोधकर्ता ने दावा किया कि ये ग्रह हर 3600 साल में सूरज का एक चक्कर लगाता है। डेविड ने दावा किया कि ये ग्रह हमारे सौर मंडल में शामिल नहीं है लेकिन ये हर 3600 साल बाद हमारे सौर मंडल से गुजरता है। लेकिन डेविड के दावे पर प्रतिक्रिया देते हुए अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने प्लैनेट एक्स जैसे किसी ग्रह के अस्तित्व से इनकार किया। नासा के वैज्ञानिक डेविड मॉरिसन ने कहा कि ऐसा कोई ग्रह नहीं है और ऐसा कोई ग्रह धरती के पास से गुजरने वाला होता तो नासा को इसके बारे में पता होता।

वीडियो में बाइबिल के एक उद्धरण की नकल पर सफेद कपड़ों वाली एक महिला का फिल्माया गया है। द वाशिंगटन पोस्ट के अनुसार बाइबिल में दिया गया वर्णन इस प्रकार है, “और आसमान में एक अजूबा हुआ एक और महिला अवतरित हुई जिसके कपड़े सूरज के बने थे और जिसके पैरों में चंद्रमा था, जिसके माथे पर 12 राशियों का मुकुट था।” डेविड मिएडे ने वाशिंगटन पोस्ट से कहा कि “ईसा मसीह 33 साल जिए थे और यहूदियों के ईश्वर एलोहिम का नाम बाइबिल में 33 बार आया है। इसका बाइबिल में काफी महत्व है। संख्यात्मक रूप से इन अंकों का काफी महत्व है। मैं केवल नक्षत्रशास्त्र के बारे में बात कर रहा हूं। मैं बाइबिल के बारे में बात कर रहा हूं…मैं दोनों को मिला रहा हूं।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 बुलेट ट्रेन को लेकर अभिनेता आशुतोष राणा का पीएम नरेंद्र मोदी पर तंज, बोले- उधार का घी पीने से अच्छा होता…
2 कंगना रनौत का मजाक उड़ाना शेखर सुमन को पड़ा भारी, लोगों ने लगाई क्लास तो देनी पड़ी सफाई
3 एक्टर ने किया खुलासा- 50वें जन्मदिन पर बाबा राम रहीम ने मुझे किया था फोन, बोले मेरी…